Categories
Other

विदेशों में फंसे भारतीय को वापस हिन्दुस्तान लाने के लिए मोदी सरकार ने बनाया ये प्लान

दुनियाभर में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या 34 लाख 28 हजार 114 पहुंच गई है. अबतक इस जानलेवा महामारी से 2 लाख 43 हजार 849 लोगों की मौत हुई है. देश में अब तक कोरोना वायरस से मरीजों की संख्या 39000 के पार पहुंच चुकी है. वहीं केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक अब तक देश में इसके 39980 केस सामने आ चुके हैं. साथ ही 1305 लोगों की इससे मौत हो चुकी है. इसमें से 9950 लोगों का सफलतापूर्वक इलाज किया जा चुका है.

कोरोना लॉकडाउन में विदेशों में फंसे सभी भारतीयों की केंद्र सरकार सुरक्षित घर वापसी कराने जा रही है. नेपाल, कतर, मलेशिया और सऊदी अरब समेत कई देशों में फंसे भारतीयों को लाने के लिए 7 मई के बाद विशेष चार्टर्ड विमान भेजे जाएंगे. इस बाबत केंद्र सरकार ने एक सप्ताह का फ्लाइट प्लान भी तैयार किया है. सुप्रीम कोर्ट में विदेश में फंसे भारतीयों के रेस्क्यू के लिए गंगा गिरी ने याचिका दायर की थी. जिसके बाद केंद्र सरकार की ओर से भारतीयों की घर वापसी का आश्वासन दिया गया.

मोदी सरकार भारतीयों की वापसी के लिए 7 दिनों में 64 फ्लाइट को रवाना करेगी. ऐसे में यूएई, कतर, कुवैत, ओमान, सऊदी अरब, मलेशिया, यूएस, यूके और सिंगापुर जैसे देशों से भारतीयों का रेस्क्यू किया जाएगा. केंद्र सरकार देश के अलग-अलग राज्यों के लोगों की घर वापसी के लिए विमानों की संख्या अलग-अलग तय की गई है. जिसमें 11 फ्लाइट्स तमिलनाडु, 5 विमान गुजरात, 3 विमान जम्मू-कश्मीर,  1-1 पंजाब और उत्तर प्रदेश के लोगों की घर वापसी कराएंगे. माना जा रहा है कि 7 दिनों में करीब 14,800 भारतीयों की घर वापसी होगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.