Categories
News

ची’न की हा’लत ख’राब,भारत -अमेरिका समेत यह देश हुए एक साथ, गि’ड़गि’ड़ाने लगा ड्रै’गन…

हिंदी वायरल खबर

लखनऊ: ल’द्दाख में सी’मा पर भारत के खि’लाफ ची’न सा’जिश रच जा रहा है। इसके साथ ची’न की दक्षिण ची’न सागर, हां’गकां’ग और ता’इवान में ची’न की दा’दागि’री ब’ढ़’ती जा रही है। अब ची’न की इस ह’रक’त के खि’ला’फ भा’रत, अ’मेरि’का, ऑ’स्ट्रेलिया और जा’पान एक साथ आ’एंगे।

इं’डो-पै’सिफ़ि’क क्षे’त्र में ची’न को स’बके सि’खा’ने के लिए ये चा’रों देश अ’ब अ’धिक से अ’धिक सै’न्य और व्या’पारि’क स’ह’योग करने के म’कस’द से एक संगठन बनाने की को’शिश में हैं। फिलहाल इसको क्वा’ड-‘क्वॉड्रिलैटरल सि’क्‍योरि’टी डा’यलॉग कह रहे हैं, लेकिन ची’न ने इन सं’गठन के अ’स्तित्व में आने की सभी सं’भावना’ओं को न’कार रहा है।

भा’रत, अ’मेरि’का, ऑ’स्ट्रेलिया और जा’पान क्वॉड’ के त’हत आ’पस में साझे’दार हैं। हालांकि अ’भी यह एक अ’नौपचारि’क सं’गठन ही है। इससे पह’ले अमे’रिका ने कहा था कि हिं’द-प्र’शांत की अ’वधार’णा ने भा’र”त को बड़े स’माधान में भा’गीदार बनाया है।

इसके साथ ही ट्रं’प प्रशासन क्वा’ड देशों जैसे समान विचार वाले साझेदार देशों के साथ समन्वय स्थापित करने के लिए एक नई व्यवस्था बनाने की कोशिश कर रहा है। एक वरिष्ठ अमेरिकी राजनयिक ने बताया कि नवंबर 2017 में भारत, अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और जा’पान ने चीन के बढ़ते द’बद’बे को रोकने के लिए लं’बे समय से लं’बि’त क्वाड ग’ठबंधन को आ’का’र ने दे’ने का काम किया है। अ’धिका’री ने ब’ता’या कि इसका उद्देश्य भा’रत-प्र’शां’त क्षेत्र के स’मु’द्री मा’र्गों को भी बिना किसी द’बाव और रोक-टोक के चा’लू रखना है।

द’क्षि’ण ची’न सा’ग’र में यु’द्ध जैसे हा’ला’त

गौ’रतल’ब है कि ची’न क’रीब पू’रे द’क्षि’ण ची’न सा’गर पर दा’वा करता है, लेकिन ता’इ’वान, फिलीपींस, ब्रु’नेई, मलेशिया और वि’यतना’म भी इसके कुछ हिस्सों को अपना बताते हैं। अ’मेरि’का के सहायक वि’देश मं’त्री डे’विड स्टि’लवेल ने सीनेट की वि’देश मा’म’लों की स’मिति को बताया है कि, भा’रत इस सं’बंध में बहुत म’ज’बूत है। हिंद-प्रशां’त की अ’वधार’णा ने भारत को बड़े स’माधान में शा’मिल किया है।

अ’मेरिका के सहायक विदेश मंत्री और उत्तर कोरिया के लिए अमेरिका के विशेष प्र’तिनि’धि स्टी’फन बेग’न ने बताया कि क्वॉड ‘साझा हितों’ के आधार पर ग’ठबंधन को औप’चारिक रूप देने पर च’र्चा करने के लिए अ’क्टूबर महीने के आ’खिरी तक बैठक आ’योजित करने की तैयारी कर रहा है। स्टीफन बेगन ने यह बात भा’रत, जा’पान और ऑस्ट्रेलिया के दूतों से ‘एक सं’युक्त प’हल की शु’रुआत’ पर स’हमति मि’लने के बा’द कही है।