Categories
Other

इस शख्स ने मुंबई ने अपने घर प्रयागराज पहुँचने के लिए लगाया ऐसा जुगाड़, जानकर आप भी कहेंगे वाह!

कोरोना वायरस महामारी के कारण दुनिया भर में मरने वालों की संख्या दो लाख पांच हजार से ज्यादा हो गई है जिनमें से दो तिहाई सबसे बुरी तरह प्रभावित यूरोप से हैं. रविवार रात करीब 10:40 बजे तक कुल 2,05,142 लोगों की बीमारी से मौत हो चुकी है, जबकि कोरोनो वायरस के संक्रमित मामलों की वैश्विक संख्या 29,34,141 हो गई है, जिनमें से 8,53,666 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं. भारत में सबसे ज्यादा मरने वालों की संख्या महाराष्ट्र में हैं.

लॉकडाउन में लोग अपने घर पहुंचने के लिए तरह-तरह की जुगत लगा रहे हैं. ऐसे ही एक दिलचस्प मामले में एक व्यक्ति तरबूज और प्याज का व्यापारी बनकर मुंबई से ट्रक में प्रयागराज पहुंचा. इस व्यापार में उसने 3 लाख रुपये से अधिक का दांव लगाया. शहर के धूमनगंज थाना अंतर्गत कोटवा मुबारकपुर के निवासी प्रेम मूर्ति पांडेय ने बताया, “मैंने मुंबई में किसी तरह 21 दिन तो गुजार लिए, लेकिन लॉकडाउन खुलने के कोई आसार नहीं दिखने पर मैंने अपने पैतृक घर निकलने का रास्ता खोजा. वास्तव में अंधेरी ईस्ट के आजाद नगर में जहां मेरा घर है वहां बहुत घनी बस्ती है और कोरोना फैलने का खतरा भी वहां अधिक है.”

मुंबई एयरपोर्ट पर नौकरी करने वाले पांडेय ने कहा, “मैंने देखा कि सरकार ने एक रास्ता छोड़ रखा है वह है व्यापार का रास्ता. फल, सब्जी, दूध का व्यापार कर हम धीरे-धीरे आगे बढ़ सकते हैं. मैंने वही रास्ता चुना और यहां तक आ गया.” अपनी यात्रा के बारे में पांडेय ने बताया, “मैं 17 अप्रैल को मुंबई से चला और पिंपलगांव पहुंचा. वहां मैंने 10,000 रुपये में 1,300 किलो तरबूज खरीदा और उसे एक छोटी गाड़ी पर लोड कराके मुंबई रवाना किया.

मुंबई में एक फल वाले से तरबूज का सौदा मैंने पहले ही कर रखा था.” उन्होंने बताया, “मैंने पिंपलगांव में 40 किलोमीटर पैदल चलकर वहां प्याज के बाजार का अध्ययन किया और एक जगह अच्छी क्वालिटी का प्याज दिखने पर मैंने 2,32,473 रुपये में 25,520 किलो (9.10 रुपये प्रति किलो) प्याज खरीदा और 77,500 रुपये के भाड़े पर एक ट्रक बुक कर इस प्याज को उस पर लोड कराया और 20 अप्रैल को प्रयागराज के लिए निकल पड़ा.”

Leave a Reply

Your email address will not be published.