Categories
Other

इस नवरात्रि अष्टमी और नवमी तिथि को जरुर करें इस एक मंत्र का जाप, चमक जाएगा भाग्य

29 सितंबर से शारदीय नवरात्रि 29 सितंबर से प्ररम्भ हो चूकी है. इस नवरात्रि की अष्टमी और नवमी तिथि को सुबह शाम माँ दुर्गा के बीज मंत्र का 108 बार जाप जो भक्त करता है उनकी माता रानी सभी मनोकामनाएं पूरी करती हैं. जानें नवरात्रि की अष्टमी एऔर नवमी तिथि को कौन से मंत्रों का जप करने से मनोकामनाएं पूरी होने लगती है.

अष्टमी या नवमी को सुबह-शाम 108 बार जप करने के बाद नवमी तिथि को आम, पीपल, गुलर की सुखी लकड़ी में गाय के घी मिलाकर हवन में 108 आहुति देने के बाद 7 कन्या जो 7 साल से छोटी हो उन्हें भोजान करावें.

इन मंत्रो में से किसी भी एक मन्त्र का जाप कर्रें…

माँ शैलपुत्री मंत्र – ऊँ ह्रीं शिवायै नम:।।

– माँ ब्रह्मचारिणी मंत्र – ऊँ ह्रीं श्री अम्बिकायै नम:।।

– माँ चन्द्रघंटा मंत्र – ऊँ ऐं श्रीं शक्तयै नम:।।

– माँ कूष्मांडा मंत्र – ऊँ ऐं ह्री देव्यै नम:।।

– माँ स्कंदमाता मंत्र – ऊँ ह्रीं क्लीं स्वमिन्यै नम:।।

माँ शैलपुत्री मंत्र – ऊँ ह्रीं शिवायै नम:।।

– माँ ब्रह्मचारिणी मंत्र – ऊँ ह्रीं श्री अम्बिकायै नम:।।

– माँ चन्द्रघंटा मंत्र – ऊँ ऐं श्रीं शक्तयै नम:।।

– माँ कूष्मांडा मंत्र – ऊँ ऐं ह्री देव्यै नम:।।

– माँ स्कंदमाता मंत्र – ऊँ ह्रीं क्लीं स्वमिन्यै नम:।।

Leave a Reply

Your email address will not be published.