Categories
News

नव’रात्रि में केवल इस ची’ज से करें मां दु’र्गा की पूजा, पूरी होगी सभी मनो’कामनाएं…..

धार्मिक खबर

लौं’ग को एक अ’द्भुत प्रभा’व वाला चम’त्कारी मसा’ला माना जाता है. अपने रं’ग और गु’णों के कार’ण इसे श’नि और बु’ध का म’साला कहा जाता है. लौं’ग का दे’वी की पूजा में खू’ब प्रयो’ग होता है. नवरा’त्रि में दे’वी की पूजा में लौं’ग से खू’ब ला’भ लिया जा सक’ता है. 

मनो’कामना पू’री करने के लिए क्या क’रें?

अप’नी उ’म्र के बरा’बर लौं’ग ले लें. इसे का’ले धा’गे में बां’धकर मा’ला बना लें. इसे नव’रात्रि में किसी भी दिन दे’वी को अ’र्पित करें.  इसके बा’द अपनी मनो’कामना पू’री होने की प्रा’र्थना क’रें. इसे त’ब त’क दे’वी के ग’ले में र’हने दें, ज’ब त’क का’मना पू’र्ण न हो. मनोका’मना पू’र्ण हो जाने के बा’द मा’ला को ज’ल प्रवा’ह कर दें.

श’त्रु और विरो’धियों को शां’त कैसे क’रें?

नव’रात्रि की अ’ष्टमी या नव’मी ति’थि को 108 लौं’ग ले लें. इसके बा’द हव’न कुं’ड में अ’ग्नि प्रज्ज्व’लित क’र लें फि’र नवा’र्ण मं’त्र प’ढ़ते जा’एं और ए’क ए’क लौं’ग डा’लते जा’यें. पू’रे लौं’ग के स’माप्त हो जाने के बा’द शत्रु’ओं और वि’रोधियों के शां’त हो जा’ने की प्रा’र्थना क’रें.