Categories
Other

सुरक्षा एजेंसियों ने तबलीगी जमात से जुड़े लोग के बारे में किया बड़ा खुलासा

कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए पूरा देश 14 अप्रैल तक लॉकडाउन है. वहीं सोमवार से ही दिल्ली का निजामुद्दीन इलाका चर्चा में बना हुआ है. वजह वहां पर हुई धर्मिक सभा और उसमें हजारों की संख्या में मौजूद लोग है. आपको याद दिला दें कि इस महीने के शुरुआत में ही दिल्ली सरकार ने किसी भी तरह के धार्मिक, सामाजिक, सांस्कृतिक और राजनीतिक आयोजनों पर 31 मार्च तक के लिए पाबंद लगा दिया था. साथ ही विरोध-प्रदर्शनों में 50 से ज्यादा लोगों के इकट्ठा होने पर भी रोक लगा दी थी. सुरक्षा एजेंसियों ने तबलीगी जमात से जुड़े लोग के बारे में किया बड़ा खुलासा.

केंद्र और राज्य सरकारों के लिए परेशानी का सबब बना निजामुद्दीन तबलीगी जमात के मामले में एक और बड़ी जानकारी सामने आई है. सुरक्षा एजेंसियों को शक है कि तबलीगी जमात से जुड़े कुछ लोग शाहीन बाग में हुए प्रदर्शन में भी शामिल हुए थे. दरअसल, अंडमान के रहने वाले तबलीगी जामत के एक मेंबर ने जांच एजेंसियों को कुछ ऐसी बातें बताई हैं जिससे ये शक और भी गहरा हो गया है.सूत्रों के मुताबिक तबलीगी जामत के इस मेंबर ने जांच एजेंसियों को बताया कि उसने 18 मार्च को शाहीन बाग का दौरा किया था. फिलहाल जांच रिपोर्ट में कोरोना वायरस के लक्षणों के चलते उसे हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है. 

इस खुलासे ने दिल्ली सरकार के साथ ही साथ शाहीन बाग प्रदर्शनकारियों की भी नींद उड़ा दी है. तबलीग जमात के जरिए शाहीन बाग में शामिल लोगों को कोरोना फैलने का खतरा बढ़ गया है. अब जांच एजेंसियां ये पता करने में जुट गई हैं कि तबलीगी जमात से जुड़े बाकी कौन लोग शाहीन बाग के दौरे पर गए थे. सभी राज्यों की पुलिस और खुफिया एजेंसियों से ऐसे तबलीगी जमात के लोगो को ढूढ़ने को कहा गया है. जांच एजेंसियों को शक है कि दिल्ली के 16 मस्जिद के तबलीगी जमात से लिंक हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.