Categories
Other

सिर्फ 3 रूपए खर्च कर अपने बैंक अकाउंट को ऑनलाइन फ्रॉड से बचा सकते हैं आप

आप लोग तो ये बात जानते ही हैं की भारतीय टेक्नोलॉजी में लगातार बदलाव हो रहे और ये काफी तरक्की भी कर रहा हैं. लेकिन क्या आप लोग जानते हैं, की इस वजह से साइबर क्राइम का रिस्क भी काफी ज्यादा बढ़ता जा रहा हैं. इसिलए आज के वक़्त में ये साइबर क्राइम से बचने के लिए लोगों को साइबर सिक्योरिटी बहुत ही ज़रूरी हो गयी हैं. आज हम आपको एक ऐसी इंश्योरेंस पॉलिसी  के बारे में बताने जा रहे हैं जन्हा सिर्फ तीन रूपए खर्च करके आप अपने पैसे को सिक्योर रख सकते हैं.

आपको बता दें , की एचडीएफसी एर्गो ने एक साइबर इंश्योरेंस पॉलिसी  को लांच किया हैं, जिसमें आप 50,000 रुपये का बीमा रोजाना तीन रुपये खर्च कर के ले सकते हैं . आयिए आपको बताते हैं, की ये पालिसी कैसे इन साइबर रिलेटेड रिस्क से सुरक्षा दे सकता हैं .

इन रिस्क से सुरक्षा करेगा ये इंश्योरेंस

इस पालिसी में फर्जी ऑनलाइन ट्रांजेक्शन, फिशिंग और ईमेल स्पूफिंग, ई-एक्सटॉर्शन, पहचान की चोरी (आइडेंटिटी थेफ्ट) और साइबर बुलिंग शामिल होती हैं. एचडीएफसी एर्गो की ये साइबर इंश्योरेंस पॉलिसी आम लोगों और उनके परिवार को साइबर फ्रॉड, डिजिटल धमकी या साइबर अटैक से बचाता हैं. एचडीएफसी एर्गो के एमडी का कहना हैं की ऑनलाइन कारोबार के मामले में भारत दुनिया का दूसरा प्रमुख बाजार हैं . साइबर जोखिम और धोखाधड़ी की घटनाओं में तेजी से वृद्धि हुई है, जिस वजह से इसका प्रबंधन एक बहुत बड़ा चुनौती भरा काम हैं.

इन चीजों को किया जाता हैं कवर  

एचडीएफसी एर्गो के साइबर इंश्योरेंस में ऑनलाइन धोखाधड़ी और फ्रॉड के तकरीबन सभी मामले कवर करता हैं . ये साइबर सुरक्षा पालिसी पूरे परिवार के लिए खरीदी जा सकती हैं. इस पॉलिसी में आप, आपके पति/पत्नी और दो बच्चे को कवर किया जा सकता हैं. इस पॉलिसी में सभी डिवाइस और लोकेशन शामिल हैं. नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो (NCRB) की एक रिपोर्ट के मुताबिक, साल 2016 में देश में साइबर क्राइम की घटनाओं में 6.3 फीसदी की बढ़त हुई हैं .

Leave a Reply

Your email address will not be published.