Categories
Other

हर रोज थाना पहुंच रहीं 30 से ज्यादा शिकायतें इस बात की, पुलिस भी हो गयी हैं परेशान

एक तरफ़ लॉक डाउन के वजह से लोगों में भयावह माहौल हैं वोही दूसरी तरफ ड्यूटी में कार्यरत पुलिस के कार्य में बाधा डालने के लिए बहुत से लोग अजीबोगरीब स्तिथि बना रहे हैं. एक ऐसा ही मामला हैं जो सामने आया हैं. उसके बारे में लगभग रोज 30 से ज्यादा शिकायत थाना में दर्ज की जा रही हैं. आइये आपको बताते हैं उस मामले के बारे में.

कोराना से जंग को चल रहे लॉकडाउन में मियां-बीवी के झगड़े भी बढ़ गए हैं। घरों में जरा-जरा सी बात पर कलह होने लगी है। पुलिस कंट्रोल रूम तक हर रोज 30 से ज्यादा मामले इस प्रकार के पहुंच रहे हैं। कुछ मामलों में तो खुद बच्चों ने मम्मी-पापा के झगड़े की सूचना पुलिस को दी. झांसी की एक कॉलोनी में तो महिला अपने पति से झगड़कर घर से बाहर आ गई थी जिसे पुलिस ने समझा-बुझाकर वापस घर भेजा। शहरी क्षेत्रों में इस प्रकार के मामले सबसे ज्यादा बढ़े हैं। पुलिस कंट्रोल रूम में 25 मार्च से 1 अप्रैल तक का आंकड़ा देखेंगे तो पता चलेगा कि हर रोज 120 से 140 कॉल आते हैं.

इनमें से ज्यादातर लोग राशन की मांग करने वाले हैं, लेकिन बीस से तीस शिकायतें घरेलू विवाद की भी आ रही हैं। कंट्रोल रूम प्रशासन का कहना है कि पति-पत्नी के बीच के झगड़े की शिकायतें बढ़ी हैं। कई बार तो रात को भी पुलिस भेजनी पड़ती है. एसपी देहात राहुल मिठास ने बताया कि तीन मामले उनके इलाके से भी आए। किसी भी दंपती के बीच विवाद की जड़ कोई बड़ी नहीं थी। एक में युवक का कहना था कि उसकी पत्नी सारा दिन अपनी मां से बात करती रहती है। उसके लिए वक्त ही नहीं रहता, जबकि एक मामले में कपड़ा व्यापारी का कहना था कि पत्नी उसकी पसंद का खाना नहीं बनाती.

एक महिला ने पुलिस के कंट्रोल रूम में फोन करके सूचना दी कि उसके पति यूं तो सारा दिन घर में रहते हैं, लेकिन शाम को सात बजे कोई न कोई बहाना बनाकर निकल जाते हैं। वह लॉकडाउन का पालन नहीं कर रहे हैं, लिहाजा पुलिस उन्हें समझाए. एक महिला ने फोन करके कंट्रोल रूम को सूचना दी कि जब लॉकडाउन में दुकानें बंद हैं तो शराब कहां से आ रही है। उसका देवर हर रोज शराब पार्टी कर रहा है। शराब पीने के बाद घर में लोगों से विवाद करता है। इस सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और युवक को पकड़कर थाने ले आई। लेकिन बाद में परिवार के लोग ही उसे थाने से छुड़ा लाए.

Leave a Reply

Your email address will not be published.