Categories
News

सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैस’ला, इस शह’र में दो घंटे ग्रीन पटा’खे ज’लाने की दी मं’ज़ूरी

ब्रेकिंग न्यूज़

तेलंगाना हाईकोर्ट ने राज्य में पटा’खों की बिक्री और इस्ते’माल पर प्रति’बंध लगा दिया था, जिसके बाद तेलं’गाना फायर’वर्कर्स डीलर्स एसोसि’एशन ने हाई’कोर्ट के फैसले को इस आधार पर चुनौ’ती दी थी कि इस फैसले से उनकी आजी’विका प्रभा’वित होगी.

नई दिल्लीः सुप्रीम कोर्ट ने तेलं’गाना हाई’कोर्ट के आदेश में संशो’धन कर दो घंटे के लिए राज्य में हरित पटा’खों की बिक्री और इस्ते’माल को मंजूरी दे दी है.

इससे पहले तेलं’गाना हाई’कोर्ट ने 12 नवं’बर को राज्य में पटा’खों की बिक्री और इस्ते’माल पर प्रति’बंध लगा दिया था.

जस्टि’स एएम खानवि’लकर और जस्टिस सं’जीव खन्ना की दो सद’स्यीय पीठ ने तेलं’गाना फायर’वर्कर्स डीलर्स एसो’सिएशन की या’चिका पर सुन’वाई करते हुए यह फैसला दिया.

एसोसि’एशन ने हाई’कोर्ट के फैसले को इस आधार पर चुनौ’ती दी थी कि इस फै’सले से उनकी आजी’विका प्रभावित होगी.

याचिका’कर्ता ने तर्क दिया था कि तेलं’गाना हाईकोर्ट ने बिना एसोसि’एशन को उनका पक्ष रखने का मौका दिए ही यह आदेश दिया, जबकि पटा’खों की बिक्री एक मौ’समी व्यव’साय है, जिसमें भारी निवे’श किया जाता है.

लाइ’व लॉ की रिपोर्ट के मुता’बिक, सुप्रीम कोर्ट का यह निर्देश राष्ट्री’य हरित प्राधिक’रण (एनजीटी) के नौ नवं’बर के आदेश के अनुरूप है, जिसमें वायु गुण’वत्ता सामा’न्य होने वाले शहरों में हरित पटा’खे जला’ने की अनु’मति दी गई थी.

तेलंगा’ना हाईकोर्ट के निर्देश के बाद तेलं’गाना सरकार ने शुक्र’वार को एक आ’देश जारी किया था, जिसमें तत्काल प्रभाव से पटा’खों की बिक्री और इस्ते’माल पर प्रति’बंध लगा दिया गया था.

पटाखों की बिक्री और इस्ते’माल पर प्रति’बंध के अलावा तेलं’गाना हाई’कोर्ट ने राज्य सरकार को पटा’खे बेचने वाली दुका’नों को तुरंत बंद करने का निर्देश दिया था.

सर’कार के 12 नवंबर के आदे’श में कहा गया था कि हाईकोर्ट ने प्रिंट और इलेक्ट्रॉ’निक मीडिया के जरिये लोगों से अपील की थी कि वे पटा’खे जलाने से बचें ताकि वायु गुण’वत्ता को और बिगड़ने से बचा’या जा सके.

सरकारी आदेश में राज्य के डी’जीपी, फायर सर्वि’सेज के डीजी, सभी जिला कले’क्टर, पुलिस कमिश्नर और राज्य के पुलिस अधीक्षकों से राज्य में पटा’खे बेच रही दुकानों को बंद करने के लिए तत्का’ल कार्र’वाई करने को कहा था.

दिल्ली, पश्चिम बंगाल, महाराष्ट्र, ओडिशा, राजस्थान, सिक्किम और कर्नाटक में भी पटा’खों की बिक्री और इस्ते’माल पर प्रति’बंध लगा दिया गया था.

बता दें कि इससे पहले राष्ट्रीय हरित प्राधि’करण (एनजीटी) ने दिल्ली-एनसीआर में नौ नवंबर मध्य’रात्रि से लेकर 30 नवंबर आधी रात तक सभी प्रकार के पटा’खों की बिक्री और इस्ते’माल पर प्रति’बंध लगा दिया था.