Categories
News

आ’खिर क्या क’नेक्शन होता है, पा’यलट का कु’ल्हाड़ी के साथ, छु’पा है र’हस्य जानिए puri’…..

हिंदी खबर

हवा’ई ज’हाज़ का पा’यलट जिस कॉ’कपिट में र’हता है उसमें अ’क्सर एक कु’ल्हाड़ी मि’ल जा’एगी । यह उत’नी ब’ड़ी न’हीं हो’ती कि इस’से ल’कड़ी का’टी जा सक’ती ,मग’र रह’ती ज’रूर है । अ’ब आ’प सो’च र’हे हों’गे कि आखि’र वि’मान के कॉ’कपिट का कु’ल्हाड़ी से क्या कने’क्शन है तो आइ’ए ब’ताते हैं क्या है इस’का र’हस्य?

विमा’न के कॉ’कपिट का कु’ल्हाड़ी से क’नेक्शन :

हवा’ई जहा’ज के पाय’लट ज’ब कि’सी भी वि’मान में उड़ा’न भ’रने के लि’ए तैया’र होते हैं ।तो वे अप’ने कॉक’पिट में ए’क छो’टी सी बे’हद खू’बसूरत से कुल्हा’ड़ी रख’ते हैं । क’ई दे’शों में तो य’ह नि’यम ब’ना दि’या गया है कि पाय’लट उ’ड़ान भ’रने से पह’ले य’ह नि’श्चित क’र ले कि उस’के कॉ’कपिट में कुल्हा’ड़ी र’खी हु’ई है। अ’गर कॉक’पिट में कु’ल्हाड़ी न’हीं है तो फि’र उ’स पा’यलट को टे’क ऑ’फ क’रने से रो’क दि’या जाता है 

क्यों ज’रूरी है कु’ल्हाड़ी :

अस’ल में कुल्हा’ड़ी को वि’मान के कॉ’कपिट में इस’लिए र’खा जाता है कि अ’गर क’भी विमा’न में आ’ग ल’ग जाए। या कॉक’पिट में शा’र्ट स’र्किट की वज’ह से धु’आं भ’र जाए। तो ऐ’सी द’शा में वि’मान का गे’ट लॉ’क हो जाता है । उ’स लॉ’क गे’ट को खो’लने के लि’ए इ’सी कुल्हा’ड़ी का उपयो’ग पाय’लट कर’ते हैं ।ऐ’से में ह’र वि’मान में उ’ड़ान भ’रने से पह’ले उस’का पाय’लट कॉ’कपिट में कुल्हा’ड़ी ज’रूर रख’ता है।