Categories
Other

शिलाजीत से भी कई गुना शक्तिशाली है ये पत्तियां, खाने से मिलती है गजब की शक्ति

आज हम एक ऐसी औषधि के बारे में आपको बताने जा रहे है जो की हमारे शरीर के लिए बहुत गुणकारी है ये पौधे का नाम है तुलसी – (ऑसीमम सैक्टम) एक द्विबीजपत्री तथा शाकीय, औषधीय पौधा है. ये झाड़ी के रूप में उगता है और 1 से 3 फुट ऊँचा होता है. इसकी पत्तियाँ बैंगनी आभा वाली हल्के रोएँ से ढकी होती हैं. आपको बता दें कि पत्तियाँ 1 से 2 इंच लम्बी सुगंधित और अंडाकार या आयताकार होती हैं. पुष्प मंजरी अति कोमल एवं 8 इंच लम्बी और बहुरंगी छटाओं वाली होती है, जिस पर बैंगनी और गुलाबी आभा वाले बहुत छोटे हृदयाकार पुष्प चक्रों में लगते हैं. बीज चपटे पीतवर्ण के छोटे काले चिह्नों से युक्त अंडाकार होते हैं.

आपको बता दें कि नए पौधे मुख्य रूप से वर्षा ऋतु में उगते है और शीतकाल में फूलते हैं. पौधा सामान्य रूप से दो-तीन वर्षों तक हरा बना रहता है. जिसके बाद इसकी वृद्धावस्था आ जाती है. पत्ते कम और छोटे हो जाते हैं और शाखाएँ सूखी दिखाई देती हैं. इस समय उसे हटाकर नया पौधा लगाने की आवश्यकता प्रतीत होती है.


तुलसी का पौधा आयुर्वेदिक गुणों के कारण काफी लाभदायक भी होता है, इसकी पत्तियों के सेवन से हमें बहुत से स्वास्थ्य लाभ मिलते हैं, जिसके बारे में हम आगे बात करने वाले हैं. वहीं आयुर्वेद में इसके उपयोग के कई तरीके और उनके बताए गए हैं जैसे सुबह बासी मुंह इसकी पत्तियां चबाने से दांतों में कीड़े नही लगते है, दांत मजबूत होते है, तुलसी की पत्तियों के रस से मालिश करने पर हड्डियाँ मजबूत बनती हैं.


तुलसी में थाईमोन नाम का तत्व होता है, जो हमारी त्वचा के लिए बहुत अच्छा होता है, इनकी पत्तियों को पीसकर कील मुंहासों पर लगाने से वो जल्दी ही ठीक हो जाते हैं, इसे नियमित खाने से चेहरे पर चमक बनी रहती है, खांसी, बुखार और सिरदर्द में तुलसी लाभकारी होती है, इसके लिए तुलसी की कुछ पत्तियों को काली मिर्च, काला नमक और अदरक के साथ पानी में उबालकर उस पानी को पियें.


पेशाब से सम्बन्धित परेशानियों में नियमित तुलसी के पत्ते चबाने चाहिए, तुलसी के पत्तों को चबाने से महिलाओं को पीरियड्स सम्बन्धी परेशानियाँ नही होती हैं, तुलसी की पत्तियों को पीसकर दही के साथ खाने से मोटापा कम होता है, जो पुरुष कमजोरी दूर करने के लिए शिलाजीत का सेवन करते हैं, उन्हें तुलसी की पत्तियां प्रतिदिन सुबह चबानी चाहिए, इससे उन्हें शिलाजीत से भी ज्यादा फायदा मिलेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.