Categories
Other

प्रधानमंत्री ने सर्वदलीय बैठक में लॉकडाउन हटाना पर कही ये बड़ी बात

इस समय देश बहुत बड़े संकट से गुज़र रहा है। पूरा देश कोरोना वायरस की चपेट में आ गया है। हर दिन कोरोना मरीज़ों की संख्या बढ़ती जा रही है। देशभर में 5,600 से अधिक लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हो गये हैं और कम से कम 181 लोगों की मौ’त हो चुकी है. बुधवार को विपक्ष और अन्य दलों के नेताओं के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के ज़रिए बैठक बुलाई। जिसमें पीएम ने देश से लॉकडाउन हटाने पर चर्चा की।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को कहा कि देश में स्थिति ‘सामाजिक आपातकाल’ जैसी है और कोविड-19 महामारी के कारण गंभीर आर्थिक चुनौतियां भी हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुलाई गई नेताओं की बैठक में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये कोरोना वायरस के मुद्दे पर संवाद में कहा कि कोरोना वायरस से पहले और कोरोना वायरस के बाद का जीवन एक जैसा नहीं होगा.

प्रधानमंत्री के साथ हुई बैठक के बाद कई नेताओं ने कहा कि प्रधानमंत्री ने स्पष्ट किया कि 14 अप्रैल को एक साथ लॉकडाउन नहीं हटेगा. आधिकारिक वक्तव्य के मुताबिक प्रधानमंत्री ने नेताओं से कहा, “स्थिति ‘सामाजिक आपातकाल’ जैसी है, कड़े निर्णय लेने की जरूरत है और हमें अवश्य ही सतर्क रहना चाहिए .” उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि उनकी सरकार की प्राथमिकता हर व्यक्ति के जीवन को बचाने की है.

कई राज्यों ने लॉकडाउन की अवधि बढ़ाने के संकेत दिए हैं खासकर उन इलाकों में जिनकी पहचान घातक कोरोना वायरस के “हॉट स्पॉट” के रूप में की गई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.