Categories
Other

PM मोदी के सराहनीय कदम पर राहुल गाँधी और ममता बनर्जी ने दिया उटपटांग बयान

पूरी दुनिया के लोग कोरोना के कहर से मारे जा रहे हैं. आपको बता दें इस वायरस का अबतक कोई हल नहीं निकल पाया हैं. लेकिन पूरी दुनिया के डॉक्टर्स, वैज्ञानिक इस वायरस के इलाज़ को ढूंढने में लगे हैं. आपको बता दें दिन प्रतिदिन इसके प्रकोप से मरने वालों की संख्या बढती जा रही हैं. सबसे ज्यादा बुरा हाल इटली का हैं. इस वायरस से फिलहाल निपटने का एक ही उपाय हैं सावधानी बरती जायें. PM मोदी के सराहनीय कदम पर राहुल गाँधी और ममता बनर्जी ने दिया उटपटांग बयान. आइये आपको बताते हैं उनके घटिया बयान के बारे में.

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंती ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि भारत में कोरोना की पर्याप्त जांच नहीं हो रही है और ऐसे में लोगों से तालियां बजवाने एवं दीये जलवाने से समस्या का समाधान नहीं होगा. राहुल गांधी ने दुनिया के कई प्रमुख देशों और भारत में कोरोना की जांच के आंकड़े से जुड़ा एक ग्राफ साझा करते हुए ट्वीट किया, ‘भारत कोविड-19 से लड़ने के लिए पर्याप्त जांच नहीं कर रहा है।’ उन्होंने प्रधानमंत्री का नाम लिए बगैर तंज कसते हुए कहा, ‘लोगों से ताली बजवाने और दीये जलवाने से समस्या हल नहीं होगी।’

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी कहा कि वो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मामलों में नहीं पड़ना चाहती हैं। उन्होंने कहा, ‘अभी मैं राजनीति करूं या फिर कोरोना वायरस महामारी को रोकूं’। सीएम ममता बनर्जी ने आगे कहा, क्यों आप एक राजनीतिक जंग की शुरुआत करवाना चाहते हैं? इस मामले पर अपनी राय रखते हुए ममता बनर्जी ने कहा, “जिसे भी प्रधानमंत्री मोदी की बात सही लगती है वो उनकी बात मानें। अगर मुझे सोना होगा तो मैं सोऊंगी। यह मामला पूरी तरह से निजी है। प्रधानमंत्री मोदी ने कोरोना वायरस संक्रमण के खिलाफ लड़ाई में देश की ‘सामूहिक शक्ति’ के महत्व को रेखांकित करते हुए रविवार पांच अप्रैल को देशवासियों से अपने घरों की बालकनी में खड़े रहकर नौ मिनट के लिए मोमबत्ती, दीया, टॉर्च या मोबाइल की फ्लैशलाइट जलाने की अपील की.

Leave a Reply

Your email address will not be published.