Categories
News

यूपी में आ गई पंचायत चुनाव की तारीख, इस महीने होंगे…

खबरें

उत्तर प्रदेश में पंचायती चुनावों की तैयारियां शुरू हो चुकी हैं, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पंचायती राज विभाग को 31 मार्च तक पंचायती चुनाव कराने का निर्देश दिया है जिसके बाद विभाग ने तैयारियां शुरू कर दी हैं। उत्तर प्रदेश के मौजूदा पंचायत प्रतिनिधियों का कार्यकाल 25 दिसंबर को समाप्त हो रहा है। उत्तर प्रदेश में 2022 में विधानसभा चुनाव होने हैं और उनकी तैयारियों में किसी तरह की देरी न हो इसके लिए पंचायतों के चुनाव जल्द से जल्द कराने की तैयारी हो रही है। मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद पंचायती राज विभाग में हलचल तेज हो गई है।

उत्तर प्रदेश के मु’ख्यमं’त्री यो’गी आ’दित्यना’थ ने पिछले हफ्ते पंचायती राज विभाग के शीर्ष अधि’कारि’यों साथ बैठक में कहा था कि तैयारियां इस तरह की जाएं कि 31 मार्च तक पंचायत चुना’व संपन्न करा लिए जाएं। बैठक में कोरो’ना म’हामा’री, किसा’न आंदो’लन और यूपी बोर्ड परीक्षा को ध्यान में रखते हुए पं’चायत चुना’व क’राने पर वि’चार हुआ। बैठक में मुख्य स’चिव के साथ ही पं’चायतीरा’ज, नगर विकास और गृह विभा’ग के अपर मु’ख्य स’चिव और मु’ख्य नि’र्वाचन आयु’क्त भी मौ’जूद थे।

2015 के दौरान उत्तर प्रदेश के 74 जिलों में 4 चरणों में पंचा’यत चु्ना’व हुए थे, उस समय पहले चरण में 15646, दूसरे चरण में 14432, तीसरे चर:ण में 15115 और चौथे चरण में 13716 पंचायतों में चुना’व संपन्न किए गए थे, उस समय नवंबर में ही पंचा’यत चु्ना’व शुरू हो गए थे और दि’संबर में समाप्त हो गए थे लेकिन इस बार को’रोना म’हामा’री की वजह से पं’चायत चु’नावों में देरी है और 2022 में विधा’नस’भा चु’नाव भी होने हैं ऐसे में सरकार जल्द से जल्द पंचायत चुना’व कराने की तैयारी में हैं।

2015 में 58 हजार से ज्यादा पंचायतों के 4.76 लाख से ज्यादा पंचायत प्रतिनिधियों और 7.42 लाख से ज्यादा वार्ड प्रतिनधियों के चु्ना’व हुए थे और 11 करोड़ से ज्यादा मतदाता था। लेकिन इस बार मतदाता पहले के मुकाबले बढ़े हैं और साथ में कई पंचायतों में भी बदलाव हुए हैं।