Categories
News

प्रे’ग्नेंसी के दौ’रान महि’लाओं को न’हीं क’रना चा’हिए ये का’म, पह’ले म’जा वा’द में ह’मेशा के लि’ए स’जा ब’न स’कती है….

हिंदी खबर

शरी’र को सा’फ रख’ने औ’र फ्रे’श मह’सूस कर’ने का सब’से आ’सान तरी’का है न”हाना. न’हाने से व्य’क्ति खु’द ब खु’द थका’वट से मु’क्त हो जा’ता है औ’र फ्रे’श म’हसूस क’रता है. आ’प क’ई त’रह से न’हा स’कते हैं जै’से कि क’ई लो’ग शा’वर के नी’चे ख’ड़े हो’कर न’हाने के म’जा ले’ते हैं ज’बकि क’ई लो’गों को बाथ’टब में ले’टकर नहा’ने में म’जा आ’ता है. व’हीं कु’छ लो’ग न’ल से बा’ल्टी में पा’नी भर’कर नहा’ते हैं. ले’किन प्रेग्नें’सी के दौ’रान महि’लाओं को न’हाने प’र भी वि’शेष रू’प से ध्या’न दे’ना चा’हिए.

प्रेग्नें’सी की पह’ली तिमा’ही
प्रेग्नें’सी की प’हली ति’माही का स’मय ब’हुत नाजु’क हो’ता है क्‍यों’कि इ’स दौरा’न ब’च्‍चे के अं’ग विकसि’त हो’ने शु’रू हु’ए हो’ते हैं औ’र ऐ’से में शरी’र का ताप’मान ब’ढ़ने प’र कॉ’म्प्लीके’शन्स या जन्‍म’जात वि’कार हो स’कते हैं. इ’न ती’न मही’नों में न’हाने के लि’ए न’ल का पा’नी या गुन’गुना पा’नी का ही इस्‍तेमा’ल क’रें औ’र ज्‍या’दा लं’बे स’मय त’क पा’नी में न र’हें. नहा’ने के लि’ए ऑर्गे’निक औ’र कैमि’कल फ्री प्रो’डक्‍ट का प्रयो’ग क’रें. पा’नी का ताप’मान 102 डि’ग्री से ज्‍या’दा न’हीं हो’ना चा’हिए.

प्रेग्नें’सी की दू’सरी ति’माही

इ’स स’मय त’क ब’च्‍चे का का’फी विका’स हो चु’का हो’ता है औ’र ग’र्भवती म’हिला का पे’ट भी बा’हर नि’कल चु’का हो’ता है. अ’गर डॉ’क्‍टर रो’ज न’हाने के लि’ए म’ना कर’ते हैं तो उन’की बा’त ज’रूर मा’नें. ज्‍या’दा लं’बे स’मय त’क शॉ’वर न लें क्‍यों’कि इ’ससे वजाइ’नल इंफेक्‍श’न भी हो सक’ता है. व’हीं, अग’र आ’पको प्रेग्‍नें’सी में पै’रों में द’र्द है तो आ’प ग’र्म पा’नी से नहा’ने की ब’जाय अप’ने पै’रों को ग’र्म पा’नी में कु’छ दे’र के लि’ए डुबो’कर र’ख सक’ती हैं.

प्रेग्नें’सी की तीस’री तिमा’ही
प्रेग्नें’सी की तीस’री ति’माही में श’रीर में द’र्द औ’र ऐंठ’न रह’ती है. इ’स सम’य न’हाने से ब’हुत आरा’म मिल’ता है. इ’स दौ’रान महिला’ओं का व’जन ब’ढ़ जा’ता है औ’र उ’न्‍हें च’लने में दि’क्‍कत हो सक’ती है. ऐ’से में बाथ’रूम जा’ने के लि’ए कि’सी की म’दद ज’रूर लें.

प्रेग्नें’सी में न’हाने के टि’प्स
प्रेग्‍नें’सी में फ्था’लेट, बी’पीए ला’इनर औ’र हानिका’रक रसाय’नों से यु’क्‍त उत्‍पा’दों का इस्‍ते’माल बिल्कु’ल न क’रें.
15 से 20 मि’नट से ज्‍या’दा सम’य त’क बा’थ ट’ब में न र’हें, व’रना वजा’इनल इंफे’क्‍शन हो स’कता है.
अ’रोमा ऑ’यल का इस्‍तेमा’ल क’रने से ब’चें क्‍यों’कि क’भी-क’भी इन’की व’जह से एल’र्जी हो स’कती है औ’र ले’बर पे’न या मिस’कैरेज भी हो सक’ता है. इ’न बा’तों का ध्‍या’न रख’कर आ’प प्रेग्‍नें’सी में अप’नी बॉ’डी को सा’फ औ’र ब’च्‍चे को सुरक्षि’त र’ख सक’ती हैं.