Categories
News

बड़ी खबर :राकेश टिकैत ने हरियाणा में की फसल जलाने की बात

केंद्र सरकार के कृषि कानूनों के खिलाफ 40 किसान संगठनों के शीर्ष नेतृत्व संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर आज यानी गुरुवार को 12 बजे से 4 बजे के बीच देशभर में रेल का चक्का जाम किया गया. पटना से लेकर दिल्ली और अंबाला तक में रेल रोको आंदोलन का असर दिखा. पटना में ट्रेनें रोकी गईं हैं, वहीं दिल्ली में कई मेट्रो स्टेशनों को बंद किया गया है. रेल रोको आंदोलन का सबसे अधिक असर दिल्ली-मुंबई, दिल्ली-जम्मू, दिल्ली-भोपाल, व दिल्ली-हावड़ा रूट पर पड़ा. इस दौरान सुरक्षा के भी पुख्ता इंतजाम रहे. किसानों का आंदोलन देशभर में लगभग शांतिपूर्ण रहा. कुछ जगहों पर पुलिस और प्रदर्शनकारियों में धक्का-मुक्की जरूर हुई.

राकेश टिकैत ने कहा- फसलों की कीमत नहीं बढ़ाई जा रही है, लेकिन ईंधन की कीमतें बढ़ गई हैं. यदि केंद्र स्थिति को बिगाड़ता है तो हम अपने ट्रैक्टर लेकर बंगाल भी जाएंगे. वहां भी किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य नहीं मिल रहा है. 

भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने हरियाणा में कहा- केंद्र सरकार इस मुगालते में ना रहे कि किसान फसल कटाई के लिए जाएंगे. यदि उन्होंने हठ किया तो हम अपनी फसलों को जला देंगे. उन्हें यह नहीं सोचना चाहिए कि प्रदर्शन 2 महीने में खत्म हो जाएगा. हम फसल के साथ-साथ प्रदर्शन भी करेंगे.बरेली में भी हुआ किसानों का हंगामा पुलिस से धक्कामुक्की भी हुआ. कानूनों के विरोध में बरेली में जगह-जगह किसान ट्रेन रोकने के लिए जुटे. सेठ दामोदर स्वरूप पार्क में जमा हुए किसानों ने पुलिस की सख्ती को लेकर हंगामा भी कर दिया.