Categories
Other

59 सालों बाद बन रहा दुर्लभ योग, 4 मई से इन राशियों के शुभ दिन होंगे शुरू

ज्योतिषियों के अनुसार सोमवार, 4 मई को ग्रहों का सेनापति मंगल राशि बदलकर मकर से कुंभ में प्रवेश करेगा। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार जब भी कोई ग्रह अपनी दिशा में परिवर्तन करता है तो उसका सीधा असर राशियों पर पड़ता है। मकर राशि में मंगल, गुरु और शनि की युति बनी हुई है। ज्योतिषियों का कहना है मंगल के निकलने के बाद गुरु और शनि मकर राशि में रह जाएंगे।59 साल बाद इन दोनों ग्रहों की मकर राशि में युति बनेगी।

मई में शनि और गुरु होंगे वक्री

उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. मनीष शर्मा के अनुसार मकर राशि में गुरु-शनि की युति 1961 में बनी थी। 11 मई की शाम शनि और 14 मई की रात गुरु ग्रह वक्री हो जाएगा। इसके बाद ये दोनों ग्रह मकर राशि में एक साथ वक्री रहेंगे।

वक्री गुरु 29 जून की रात धनु राशि में प्रवेश करेगा। तब तक इन दोनों ग्रहों की वक्री स्थिति देश-दुनिया के लिए लाभदायक रहने वाली है। इन दोनों ग्रहों के शुभ असर से दुनियाभर में फैली महामारी का प्रभाव कम होना शुरू हो जाएगा। आर्थिक संकट पर नियंत्रण होने लगेगा। प्राकृतिक आपदाओं से रक्षा होगी।

सभी 12 राशियों पर कुंभ राशि के मंगल का असर

मेष, वृष, मिथुन, कर्क, सिंह, तुला, वृश्चिक, धनु राशि के लोगों के लिए कुंभ राशि का मंगल शुभ स्थिति में रहेगा। मंगल की वजह से कार्यों में सफलता मिलेगी, अटके कामों में गति आएगी। घर-परिवार में सुखद वातावरण रहेगा।


कन्या, मकर, कुंभ, मीन इन 4 राशियों के लिए मंगल अशुभ स्थिति में रहने वाला है। इन लोगों को कड़ी मेहनत करनी होगी। आशा के अनुरूप फल नहीं मिल पाएंगे। विरोधियों से सतर्क रहने की जरूरत है। वाद-विवाद से बचना होगा। क्रोध पर काबू रखें, वरना काम बिगड़ सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.