Categories
Other

दिल्ली दं’गे में मा’रे गये हेड कॉन्स्टेबल रतन लाल के आ’रो’पि’यों की हुई पहचान

दिल्ली में हो रही हिं-सा को आज कई दिन हो गए है. बता दें कि अब तक इस हिं’सा में बहुत से लोगों की मौ’त हो गई है. जबकि 200 से ज्यादा लोग ज-ख्मी है. लेकिन हालत काबू में होने का नाम नहीं ले रहा हैं. उ’ग्र लोग किसी को भी अपना नि’शा’ना बना ले रहे हैं. आपको बता दें कि उत्तर-पूर्वी दिल्ली में सोमवार को जम-कर हिं’सा हुई तो वहीं मंगलवार को भी मौजपुर और ब्रह्मपुरी इलाके में प’त्थ’रबा’जी की गई. हिं’सा के पहले दिन हमने हेड कॉन्स्टेबल को खो दिया. अब उनकी ह’त्या करने वाले आरोपियों की पहचान हो गयी हैं. आइये आपको बताते हैं.

एक वीडियो हैं जो 24 फरवरी का है, जब चांदबाग के पास दो गुटों में झ’ग’ड़ा की खबर मिलते ही डीसीपी अमित शर्मा टीम लेकर वहां पहुंचे थे, लेकिन तभी वहां पर उ’प’द्र’वि’यों ने पुलिस पर प’थ’रा’व करना शुरू कर दिया. बताया जा रहा है कि पुलिस रोकने में जुटी थी तभी प’थ’रा’व इतना बढ़ गया जिससे पुलिस को पीछे हटना पड़ा. पुलिस पर लगातार प’थ’रा’व होने के साथ फा’य’रिं’ग भी की गई है. क्रा’इ’म ब्रां’च की SIT इस वीडियो की भी जांच कर रही है. वहीं जो पुलिसकर्मी मौके पर मौजूद थे उन सभी के बयान लिए गए हैं. दावा किया जा रहा है कि इस भी’ड़ में ही उ’प’द्र’वि’यों ने रतन लाल पर फा’य’रिं’ग की थी, जिससे उनकी मौ’त हो गई.

दिल्ली पुलिस के एसीपी अनुज का कहना है कि यह घटना 24 तारीख की है जहां वजीराबाद रोड पर अचानक भीड़ आ गई. हम किसी तरह एक प्राइवेट साधन से यमुना विहार गए. उन्होंने बताया कि डीसीपी बेहोश होकर डिवाइडर के पास गिरे हुए थे. किसी को पहचानने पर एसीपी ने कहा कि भीड़ में सब दं’गा’ई थे उसका कोई चेहरा नहीं होता.

Leave a Reply

Your email address will not be published.