Categories
News

भार’त की सड़’कों पर मौ’त का क’ब्जा, हर घं’टे जा रही 17 से ज्या’दा लो’गो की जा’न.

खबरे

भारत की सड़कों पर है मौत का कब्जा, हर घंटे जाती है 17 लोगों की जान

भारत की सड़के हैं सबसे खतरनाक   

2019 के आं’कड़ों की बात करें तो भा’रत में हर रो’ज 1,230 एक्सी’डेंट्स में 414 लो’गों की जा’ने गई. या’नी हर घं’टे में 51 एक्सी’डेंट और 17 मौ’त. ब’ता दें कि इ’नमें से 57% लो’ग ऐसे हैं जो फोर व्ही’लर से नहीं ब’ल्कि पैद’ल चलते, साइ’किल चलाते या टू-व्ही’लर से जाते स:मय दुर्घ’टना का शि’कार हुए.

भार’त की सड़’कों पर जित’नी स्पी’ड से गा’ड़ियां दौड़’ती हैं, उतनी ही तेजी से एक्सी’डेंट होते हैं. सर’कार के आक’ड़ों के मुता’बिक भा’रत की स’ड़कों पर स’बसे ज्या’दा दुर्घट’नाएं होती हैं. इन सड़’कों पर हर घं’टे में 17 मौ’तें होती हैं. साल 2019 के आं’कड़ों की बात करें तो भार’त में हर रोज 1,230 एक्सी’डेंट्स में 414 लो’गों की जाने गई. यानी हर घं’टे में 51 एक्सी’डेंट और 17 मौ’त. बता दें कि इ’नमें से 57% लोग ऐसे हैं जो फोर व्ही’लर से नहीं ब’ल्कि पैद’ल चलते, साइ’किल चलाते या टू-व्हील’र से जाते समय दुर्घ’टना का शिकार हुए.

सड़’क परिव’हन एवं राज’मार्ग मंत्रा’लय के अनु’सार भार’त में हर साल साढ़े चार ला’ख से अधि’क सड़’क हाद’सों में तक’रीबन डेढ़ ला’ख लोग मा’रे जाते हैं. साल 20’18 में 467044 सड़’क दुर्घट’नाएं हुई जि’नमें 151417 लोगों की मौ’त हुई. जिस’के हि’साब से हर दिन 1279 स’ड़क हाद’सों और 414 मौ’तें हुईं. 

सा’ल 2019 सितं’बर में नया मो’टर व्ही’कल ए’क्ट लागू किया गया था. बाव’जूद इसके भार’त की सड़’कों पर होने ‘वाली दुर्घ’टनाओं में कोई कमी नहीं आई है. मगर साल 2018 के मुका’बले 2019 में एक्सी’डेंट्स में म’रने वालों की सं’ख्या में 3.86%, और घा’यलों में 3.85% की कमी आई है. बात करें साल 2015 के आं’कड़ों की तो उ’सकी तुल’ना में 50 हजार एक्सी’डेंट कम तो हुए हैं, लेकि’न पांच हजार एक्सीडेंट वि’क्टिम बढ़े हैं. 

बात करें रिपो’र्ट्स की तो अमेरि’का और जा’पान में भार’त से अ’धिक एक्सी’डेंस होते हैं. लेकिन भार’त में एक्सी’डेंट से मरने वा’लों की सं’ख्या इन देशों से 4 गुना ज्या’दा है. WHO (विश्व स्वास्थ्य संगठन) की ग्लो’बल स्टे’टस रिपो’र्ट ऑन रोड से’फ्टी 2018 के मुता’बिक साल 2016 में स’ड़क दुर्घट’ना में दुनि’याभर के कुल 13.5 ला’ख लोगों की मौ’तें हुईं. जिन’में अधि’क्तर लोग 5-29 सा’ल के बीच के थे.