Categories
News

PM मोदी को 19 पन्नों का खत लिखकर 15 साल की लड़की ने दुनिया को कहा अलविदा,देखें पत्र में क्या लिखा था…

हिंदी खबर

उत्तर प्रदेश राज्य के संभल जिले से एक मामला सामने आ रहा है! जहां पर छात्रा अंचल गोस्वामी ने सोमवार को खुद कुशी कर ली है! यह खबर सुनते ही पूरे गांव में हड़कंप मच गया है! इतना ही नहीं बल्कि मौके से 19 पन्नों का सु-साइड नोट भी बरामद किया गया है! सबसे हैरान करने वाली बात तो यह है कि यह पत्र प्रधानमंत्री जी के लिए लिखा गया है! फिलहाल मामले की पुलिस कार्यवाही कर रही है!

मिली जानकारी के अनुसार अंचल गोस्वामी ने प्रधानमंत्री मोदी के नाम पर लिखे पत्र में घर परिवार ही नहीं बल्कि देश और समाज के हालात पर भी चिंता जताई है! आंचल ने अपने पत्र में लिखा कि प्रधानमंत्री तो देश में कई हुए हैं पर माननीय प्रधानमंत्री जी आप जैसा कोई नहीं! मेरे दिल में आपके लिए बेहद सम्मान है काश मैं अपनी उम्र भी आपको दे पाती! आप में संस्कार निवास करते हैं यह देश वर्षों से अंधेरे में रहा था और आप पहले सूर्य बनकर उभरे हैं!

प्रधानमंत्री जी मैं आपसे मीटिंग करना चाहती थी परंतु यह असंभव है क्योंकि आप खुद को ही समय नहीं दे पाते हो! निरंतर देश की सेवा में लगे रहते हो! प्रभु श्री राम के मंदिर का शिलान्यास होने को लेकर कहा वर्षों से अंधेरे पड़े कार्य को आपने पूरा किया है जय श्री राम! पर कितनी अनमोल होती है क्योंकि वह कभी हमें पार लगा देती है तो कभी दुआ देती है मैं निराकर अर्थात शिव के निकाल रूप से प्रार्थना करती हूं कि भारत देश को मजबूत बनाएं, अमर बनाएं! भारत तो औषधि का देश है पर अब प्रदूषित हवा हर जगह फैल रही है प्रधानमंत्री जी क्या आप मेरी इच्छाओं को पूर्ण कर सकेंगे!

उन्होंने अपने पत्र में लिखा कि प्रधानमंत्री जी आप जानते हैं कि चाइना भारत को खिलौने आदि प्लास्टिक का सामान भेजता है वह खिलौने महीनों तक दूर कुछ ही दिन चलते हैं और वह कूड़ा भारत की जमीन को और जहरीला बना देता है! लोग सड़कों पर कूड़ा फैलाते हैं लेकिन उन पर कोई कार्यवाही की जाए तथा उन्हें डस्टबिन उपलब्ध कराई जाए! उन्होंने कहा कि छोटी नदियों में आधा किलो मीटर और बड़ी नदियों में 1 किलोमीटर तक वर्षों ओपन करवाया जाए इससे बेहद अधिक फायदा भी होगा!

आप वाटर हार्वेस्टिंग पर भी जोर दें! प्रधानमंत्री जी कई बार डॉक्टर दबाव पर अधिक पैसे लेते हैं ऐसे डॉक्टर के ऊपर भी कार्रवाई होनी चाहिए! किस विषय में आप हॉस्पिटल में सहायता के लिए एक पोस्टर लगवाए अगर किसी से डॉक्टर ज्यादा वसूल रहा है तो उसकी शिकायत कर सकें!

मेरा नाम अंचल गोस्वामी है मुझे यह दुनिया कपड़े पसंद नहीं है क्योंकि यहां पर लोग आपस में झगड़ते रहते हैं मां-बाप को वृद्ध आश्रम भेज देते हैं उनके साथ गंदा व्यवहार करते हैं! लोग पेड़ पौधे अपने हितों के लिए काट लेते हैं वह जानवरों के ऊपर अत्याचार करते हैं जो लोग मांसाहार का सेवन करते हैं ऐसे लोग मुझे बहुत बुरे लगते हैं! घृणा आती है ऐसे लोगों से जो अपने राष्ट्रगान पर खड़े होने से कतराते हैं देश विरोधी गतिविधियों में हिस्सा लेते हैं ऐसे लोगों को देश से निकाल देना जरूरी है!

अंचल गोस्वामी ने अंत में लिखा कि प्रधानमंत्री आपको नमन है मैं खुद खुशी अपनी इच्छा से कर रही हूं इसका कोई भी जिम्मेदार नहीं है ना तो कोई मेरा घर वाला ना ही कोई बाहर वाला! मम्मी से माफी मांगना चाहती हूं, मम्मी पता नहीं मुझे क्या हो गया ऐसा लगता है कि कोई मुझे जीते हुए नहीं देखना चाहता! मैं मजबूर हूं मेरे दिमाग में क्या बन गया है, मेरी जिंदगी नरक करती है! हां यह सिर्फ शरीर है जो कमजोर था अलविदा!