Categories
Other

शिवराज सिंह चौहान ने राज्यपाल के सामने 106 बीजेपी विधायकों की परेड कराई

मध्यप्रदेश में सीएम कमलनाथ अपनी सरकार बचाने के लिए सारे हथकंडे अपना रहें हैं लेकिन सरकार बचाना बहुत मुश्किल नज़र आ रहा है। एमपी में सिंधिया के साथ 22 विधायकों समेत 6 मंत्रियों ने इस्तीफा देकर कमलनाथ सरकार को संकट डाल दिया था, जिसके बाद सूबे के राज्यपाल लाल जी टंडन ने कमलनाथ को सरकार अल्पमत में बताते हुए 16 मार्च को फ्लोर टेस्ट करने के आदेश जारी कर दिए थे.


बीजेपी नेता और पूर्वी सीएम शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को राज्यपाल लाल जी टंडन से मुलाकात की और उनके सामने बीजेपी के 106 विधायकों की परेड कराई. राज्यपाल को विधायकों की सूची दी। सूची देने के बाद उन्होंने कहा कि कमलनाथ सरकार अल्पमत में है और बीजेपी के पास सरकार बनाने का संवैधानिक अधिकार है.

सोमवार को मध्यप्रदेश विधानसभा में बहुमत परिक्षण नहीं हो पाया और विधानसभा के सत्र को 10 दिन के लिए स्थगित कर दिया. सियासी संकट का समाधान विधानसभा पटल पर नहीं होता देख अब बीजेपी ने राज्यपाल और सुप्रीम कोर्ट का रुख किया है.

पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने ZEE NEWS से बात करते हुए कहा, ‘हम राज्यपाल से मिलकर निर्णय लेंगे. राज्यपाल के सामने विधायकों की परेड कराएंगे.’ इसके बाद बीजेपी के सभी विधायक बस में राजभवन के लिए निकल गए. विधानसभा में बीजेपी के मुख्य सचेतक नरोत्तम मिश्रा ने कहा, ‘कोरोना का बहाना बनाकर सरकार बच नहीं सकती है.’

वहीं कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने राज्यपाल से मिलने के बाद कहा, ‘राज्यपाल महोदय मेरे अच्छे मित्र रहे हैं कोई राजनीतिक चर्चा नहीं हुई. केवल भेंट के लिए गया था.’

बता दें कि मध्य प्रदेश में कमलनाथ सरकार अल्पमत में है और भारतीय जनता पार्टी फ्लोर टेस्ट की मांग पर अड़ी हुई है. वहीं कमलनाथ सरकार फ्लोर टेस्ट को टालने में लगी हुई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.