Categories
News

बिहार -: प्रचा’र के अंतिम दिन नीतीश कुमार ने किया बड़ा ऐ’लान , बोलें ये मेरा अंतिम…..

खबरें

बिहा’र में वि’धानस’भा चुना’व प्रचा’र के आ’खिरी दिन मु’ख्यमं’त्री नी’तीश कुमार ने बड़ा ऐ’लान किया है. उन्होंने कहा कि ये उनका आ’खिरी चुना’व है. मु’ख्यमं’त्री नी’तीश कु’मार ने पू’र्णिया में ज’नस’भा को सं’बोधि’त करते हुए कहा कि जा’न लीजिए आज चु’नाव का आ’खिरी दिन है. और प’रसों चुना’व है. यह मेरा अं’तिम चुना’व है. अंत भ’ला तो सब भ’ला.

बता दें कि नी’तीश कुमार ने साल 1977 में अपना पहला चुना’व लड़ा था. उन्होंने नालं’दा के ह’रनौ’त से चुना’व लड़ा. यहां से नीती’श कुमार चार बार चुना’व लड़े. जिसमें उन्हें 1977 और 1980 में हार मिली, जबकि 1985 और 1995 के चुना’व में वो विजयी हुए

नी’ती’श कुमार ने साल 2004 में अपना आखि’री चुना’व लड़ा था, जिसमें उन्हें नालं’दा से जीत हासि’ल हुई थी. उसके बाद से नी’तीश कुमार ने कोई चुना’व नहीं लड़ा. नीती’श कुमार ने साल 1972 में बिहार इं’जीनि’यरिं’ग कॉ’लेज से पढ़ाई की. उन्होंने कुछ समय तक बि’हार स्टे’ट इ’ले’क्ट्रि’सि’टी बोर्ड में नौ’करी भी की. लेकिन जय’प्रका’श ना’रायण, राम म’नो’हर लो’हिया जैसे नेताओं के सं’पर्क में आने के बाद नीती’श कु’मार रा’ज’नी’ति के हो लिए. 

16 साल से नहीं लड़ा चुनाव

नीतीश कुमार 6 बार बिहार के मुख्यमंत्री रहे हैं. साल 2004 के बाद उन्होंने कभी चुनाव नहीं लड़ा. नालंदा से सांसद रहे नीतीश कुमार नवंबर 2005 में NDA के प्रदेश में सत्ता में आने पर मुख्यमंत्री बने थे. उन्होंने सांसद पद से इस्तीफा देकर बिहार विधान परिषद की सदस्यता ग्रहण की थी.