Categories
News

इंस्टाग्राम और YouTube यूजर्स बदल लें पासवर्ड, देखिये ऐसे हुआ 23 करोड़ से ज्‍यादा लोगों का डेटा लीक…

हिंदी अपडेट

नई दिल्‍ली: अगर आप भी सोशल मीडिया एप इंस्टाग्राम, YouTube और TikTok का प्रयोग करते हैं तो सावधान हो जाएं। क्‍योंकि फेसबुक के स्वामित्व वाले इंस्टाग्राम, चीन-आधारित टिकटॉक और Google के स्वामित्व वाले YouTube के कम से कम 235 मिलियन उपयोगकर्ता भारी डेटा लीक की चपेट में आ गए हैं और उनके निजी प्रोफाइल डार्क वेब पर मौजूद हैं।

प्रो-कंज्यूमर वेबसाइट कंपेरिटेक के सुरक्षा शोधकर्ताओं के अनुसार, इस डेटा चोरी के पीछे एक असुरक्षित डेटाबेस है। फोर्ब्स ने सुरक्षा शोधकर्ताओं के हवाले से बताया, “डेटा कई डेटासेटों में फैला हुआ था और प्रोफाइल रिकॉर्ड्स इंस्टाग्राम से छिन गए थे।” इसमें 42 मिलियन टिकटॉक यूजर्स का डेटा था और लगभग 4 मिलियन YouTube उपयोगकर्ता प्रोफाइल थे।

पांच रिकॉर्डों में से एक में उपयोगकर्ताओं का टेलीफ़ोन नंबर या ईमेल पता, प्रोफ़ाइल नाम, पूर्ण वास्तविक नाम, प्रोफ़ाइल फ़ोटो, खाता विवरण और अनुयायियों की संख्या और पसंद इत्यादि शामिल थे।

कंपाइचेक के संपादक पॉल बिस्चॉफ ने कहा, “जानकारी शायद स्पैमर और फ़िशिंग अभियान चलाने वाले साइबर अपराधियों के लिए सबसे अधिक मूल्यवान होगी।”

बिस्चॉफ ने रिपोर्ट में कहा, “हालांकि डेटा सार्वजनिक रूप से सुलभ है, तथ्य यह है कि यह एक अच्छी तरह से संरचित डेटाबेस के रूप में लीक हो गया था, जिससे यह बहुत अधिक मूल्यवान है।”

शोधकर्ताओं के मुताबिक, यूजर्स के प्रोफाइल डेटा को खंगालने के बाद 2018 में डीप सोशल नामक कंपनी के लीक हुए डेटा प्वाइंट्स को फेसबुक और इंस्टाग्राम दोनों ने प्रतिबंधित कर दिया।

फेसबुक ने प्रवक्ता के हवाले से लिखा गया है, “इंस्टाग्राम से लोगों की जानकारी को चुराना हमारी नीतियों का स्पष्ट उल्लंघन है। हमने जून 2018 में अपने प्लेटफॉर्म पर डीप सोशल की पहुंच को रोक दिया और कानूनी नोटिस भेजा।”

कंपेरिटेक के अनुसार, डेटा मार्केटिंग कंपनी ने बाद में असुरक्षित डेटाबेस को बंद कर दिया, क्योंकि उन्हें इसकी सूचना दी गई थी।