Categories
Other

कोरोना का आतंक सऊदी के शाही परिवार पर, 150 सदस्य हुए वायरस के शिकार

पूरी दुनिया में कोरोना वायरस का खतरा बना हुआ हैं. सबसे ताकतवर देश भी इस वायरस का कोई इलाज खोज नहीं पा रहे है. अधिकतर सभी देश लॉकडाउन हो चुके हैं. भारत में भी कोरोना वायरस के मामले दिन पर दिन बढ़ते ही जा रहे है. इस महामारी ने सऊदी अरब के शाही परिवार को भी अपनी गिरफ्त में ले चुका हैं. आइये आपको बताते हैं पूरे विस्तार से.

चीन के वुहान शहर से फैला कोरोना वायरस दुनिया के दिग्गज नेता, अभिनेता, शाही परिवार से लेकर हर खास और आम आदमी को अपनी चपेट में ले रहा है. अब कोरोना वायरस ने सऊदी अरब के शाही परिवार को अपनी चपेट में ले लिया है. रिपोर्ट में यह भी दावा किया गया कि सऊदी के शाही परिवार के कई सदस्य लगातार यूरोप की यात्रा करते रहते हैं. माना जा रहा है कि इनमें से कुछ यूरोप दौरे के समय कोरोना वायरस के संपर्क में आ गए थे, जिससे सऊदी अरब में कोरोना वायरस फैला है.

अमेरिकी अखबार न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक सऊदी अरब के सत्तारूढ़ शाही परिवार के 150 लोग कोरोना वायरस के शिकार हो चुके हैं.न्यूयॉर्क टाइम्स ने किंग फैसल स्पेशलिस्ट हॉस्पिटल द्वारा भेजे गए हाई अलर्ट मैसेज और शाही परिवार के करीबियों से मिली सूचना के आधार पर यह जानकारी दी है. सऊदी के शाही परिवार का इलाज कर रहे डॉक्टर अब हॉस्पिटल में 500 बेड की भी व्यवस्था कर रहे हैं, ताकि शाही परिवार और उनके संपर्क में आने वाले वीआईपी लोगों को भर्ती किया जा सके.

कोरोना वायरस की चपेट में आने के बाद सऊदी अरब के प्रिंस फैसल बिन अब्दुल अजीज अल साउद को आईसीयू में रखा गया है. फैसल सऊदी अरब की राजधानी रियाद के गवर्नर भी हैं. इसके अलावा सऊदी अरब के 84 वर्षीय किंग सलमान जेद्दा के नजदीक आइसोलेशन में चले गए हैं, जबकि क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान समेत शाही परिवार के अन्य सदस्य और मंत्री दूरदराज के इलाकों में रह रहे हैं.

किंग फैसल स्पेशलिस्ट हॉस्पिटल ने सीनियर डॉक्टरों को भेजे हाई अलर्ट मैसेज में कहा कि देश से आने वाले वीआईपी मरीजों के लिए व्यवस्था तैयार की जा रही है. इसमें यह भी कहा गया कि हमको अभी तक यह पता नहीं है कि कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या कितनी होगी, लेकिन हाई अलर्ट में रहने को कहा गया है.इसके साथ ही हॉस्पिटल में भर्ती सभी पुराने मरीजों को जल्द से जल्द खाली करने को कहा गया है. अब हॉस्पिटल में सिर्फ इमरजेंसी मरीजों और शाही परिवार व वीआईपी लोगों का ही इलाज होगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.