Categories
News

इतिहास का ऐसा हिंदू शासक, जिसकी थी 35 मु’स्लिम रानियां!! नाम से कांप उठतें थे मु’स्लिम, अ’क’ब’र भी……

खबरें

आप सभी यह तो अच्छी तरह से जानते ही होंगे की भारत पर शुरू से आ’क्रम’ण और विदे’शी शा’स’कों का क’ब्जा रहा है। अ’धिकत’र ऐसा मु’स्लिम शा’सकों ने किया। लेकिन भारत में वीर हिन्दू यो’द्धाओं की कमी नहीं थी जिन्होंने वि’देशी मु’स्लि’म शा’स’कों के पसीने तक छुड़ा दिए थे। इ’तिहा’स को ग’हरा’ई से पन्नों में खो’जने पर पता च’लता है।

मैं जिस हिन्दू शा’स’क की बात कर रहा हूं उनका नाम ब’प्पा राव’ल है इनका शा’स’न काल 7वीं सदी से लेकर 8वीं तक रहा। जोकि मे’वाड़ राज्य में गु’हिल राजपूत रा’जवं’श के सं’स्था’पक थे एक बात और आपको बता दूं कि महाराणा प्रताप इसी वं’श के थे जो कभी मु’ग’ल अ’क’ब’र से नहीं हारे थे।

मो’ह’म्मद का’सि’म को ह’राने और सिं’ध को जीतने वाले ब’प्पा रावल ही थे अपने 19 वर्षों के शा’स’न के दौ’रान कभी किसी से यु’द्ध नहीं हारे थे 39 वर्ष की कम आयु में उन्होंने स’न्यास ले लिया था ब’प्पा रा’वल का ऐसा खौ’फ था कि हर शा’सक इनके नाम से ही कां’प जाता था 39 वर्ष की उम्र में ब’प्पा रा’वल की 100 रानियां थी जिसमे से 35 मु’स्लि’म थी बप्पा रावल मु’स्लि’म शा’सक को ह’राकर त’हस करके उनकी बे’गमों या बेटि’यों से वि’वाह कर लेते थे।

मैं जिस हिन्दू शा’स’क की बात कर रहा हूं उनका नाम ब’प्पा राव’ल है इनका शा’स’न काल 7वीं सदी से लेकर 8वीं तक रहा। जोकि मे’वाड़ राज्य में गु’हिल राजपूत रा’जवं’श के सं’स्था’पक थे एक बात और आपको बता दूं कि महाराणा प्रताप इसी वं’श के थे जो कभी मु’ग’ल अ’क’ब’र से नहीं हारे थे।