Categories
Other

खत्म हुयी सपा की ब्राह्मण चेहरे की तलाश, कांग्रेस के ये दिग्गज ब्राह्मण नेता थामेगा अखिलेश का हाथ.👇👇

खबरें

कांग्रेस के अंदर रहकर ब्राह्मण चेहरा बनने की ख्वाहिश मंद एक नेता को लेकर उत्तर प्रदेश में बड़ी चर्चा बनी हुई है. कहा जा रहा है वे इन दिनों पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के संपर्क में चल रहे हैं क्योंकि वे एक बड़ी राजनीतिक परिवार से आते हैं. इसलिए अखिलेश यादव भविष्य के नजरिए से उनमें अपना फायदा देख रहे हैं.

अब चूँकि नवंबर के महीने में राज्यसभा के चुनाव होने हैं और समाजवादी पार्टी अपने एक उम्मीदवार को राज्यसभा भेज सकती है. उन नेता की इस सीट पर निगाह बनी हुई है. अखिलेश यादव के टच में चल रहे कांग्रेस के यह नेता राज्यसभा की संभावनाओं को भी तलाश में तड़प रहे हैं. योगी के मुकाबले 2022 के विधानसभा चुनाव में अखिलेश यादव को एक बड़े ब्राह्मण चेहरे की तलाश है जो शायद इस चेहरे के आने के बाद खत्म हो सकती है

कांग्रेस के इस बड़े नेता का अपनी पार्टी के अंदर भी सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है. उनके खिलाफ 2019 में भी पार्टी पार्टी से बागी होने की खबरें चली थी. काग्रेस पार्टी लोकसभा चुनाव में उन्हें बीजेपी के बड़े चेहरे के खिलाफ चुनाव लड़ना चाहती थी. लेकिन उन्होंने चुनाव लड़ने से साफ-साफ इंकार कर दिया था. तभी यह चर्चा भी चली थी कि शायद यह नेता अब बीजेपी में शामिल हो सकते हैं.

आपको बता दें कि ज्योतिरादित्य सिंधिया के बीजेपी में शामिल होने के बाद कांग्रेस का युवा वर्ग वादी होता दिख रहा है. अब यूपी का यह युवा भी बागी होने की ओर अग्रसर हो गया है. अब जिस तरह से मध्यप्रदेश और राजस्थान में ज्योतिरादित्य सिंधिया और सचिन पायलट का हिसाब से कांग्रेसी नेता का यूपी में जनाधार नहीं है. फिर भी ब्राह्मण समाज के होने के नाते उनके साथ उनका समाज जुड़ा हुआ है.

यह मानकर समाजवादी अपना फायदा देख रही है. तो कांग्रेस के डूबते हुए समय में यह नेता अपना भविष्य ढूंढते नजर आ रहे हैं .जल्दी उत्तर प्रदेश में कांग्रेस को एक बड़ा झटका लग सकता है तो समाजवादी पार्टी को एक बड़ा ब्राह्मण नेता मिल सकता है अब देखना यह है कि यह कार्य संभव हो सकता है