Categories
News

चू-तिया गा’ली नही बल्कि है एक समुदाय का सरनेम, जानिए कहां की………

खबरें

हम सभी ने अपने आसपास के लोगों से ‘चू-ति’या’ शब्द जरूर सुना होगा। इस शब्द को एक गा’ली की तरह इस्तेमा’ल किया जाता है। ये शब्द एक अ’श्ली’ल शब्द भी है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि चू-ति’या शब्द किसी समुदाय का सरनेम भी हो सकता है।

सरनेम बना प’रेशा’नी
ये सुनने में अटपटा लगता है लेकिन ये सच है। पिछले दिनों प्रियंका नाम की एक लड़की का नौकरी के लिए ऑनलाइन आवेदन सिर्फ इसलिए नहीं हो रहा था क्योंकि वो चू-ति’या स’मुदा’य से आती है और उसका सरनेम चू-ति’या है।

हालांकि अ’धिकारियों से बातचीत के बाद उसका आवेदन पूरा हुआ लेकिन उसने जो प’रेशा’नी झेली उसको प्रियंका ने फेसबुक पर लोगों से शेयर किया जिसके बाद चू-ति’या आ’दिवासी स’मुदा’य एक चर्चा का विषय बन गया है।

कहां रहते हैं ये लोग
इस स’मुदाय के लोग असम में रहते हैं और अब लोग उनके बारे में जानना चाहते हैं। ये आ’दिवा’सी समु’दाय अस’म में कचा’री वर्ग के लोग हैं जो अपनी जाति के रूप में चू-ति’या शब्द का इस्तेमाल करते हैं। यहां चू-ति’या को सू-ति’या भी कहा जाता है। इस जाति की आ’बादी असम में लगभग 20 से 25 लाख के बीच है।

साम्राज्य से है ताल्लुक
असम के ‘अ’समि’या क्रॉ’नि’कल’ में ‘चू-ति’या’ स’मुदाय का इतिहास दर्ज है। बताया जाता है कि इस स’मुदाय का नाम सातवीं शता’ब्दी की शुरुआत में ब्रह्मपुत्र नदी के तट पर आकर बसने वाले चू-ति’या किंग अ’स्स’म्भि’ना के नाम पर रखा गया है। माना जाता है कि उस काल में चू-ति’या वं’श’जों ने वर्तमान के भारतीय राज्यों असम और अ’रुणाच’ल प्रदेश में अपने सा’म्राज्य का ग’ठन किया सन 1187 से सन 1673 तक राज्य किया।

ओबीसी कैटेगरी में शामिल
भारत सरकार ओबीसी यानि अन्य पिछड़ा वर्ग में चू-ति’या समुदाय को रखती है। ये समुदाय असमी भाषा बोलने वाले माने जाते हैं। स’मुदा’य के अधिकतर लोग असम के ऊपरी और निचले जिलों के साथ ब’राक घाटी में रहते हैं। इस स’मुदा’य के बारे में वि’कीपीडि’या पर एक पेज भी बना रखा है।

क्या है शब्द का मतलब
इस शब्द के मतलब को लेकर किताब द डिबोनगियास में बिष्णुप्रसाद राभा, डब्ल्यूबी ब्राउन और पवन चंद्र सैकिया ने लिखा है। इसके अनुसार, चू-ति’या शब्द मूलतौर पर देओरी भाषा से आया है, और इसका मतलब है शुद्ध पानी के करीब रहने वाले लोग। इस मतलब में चू का अर्थ यानि शुद्ध या अच्छा, ति का मतलब पानी और या यानि उस भूमि में रहने वाले निवासी या लोग होता है।