Categories
health

सर्दियों में रहना है स्व’स्थ तो ये पांच चीजें करना कभी ना भूलें, आपको मिलेगा आराम…

रोचक खबरें

व्यक्ति स्व’स्थ रहने के लिए ना’जाने क्या-क्या नहीं करता। अच्छे खाने से लेकर व्या’याम तक, हर वो जरूरी चीज को अपनाता है जो उसके लिए फायदे’मंद है। लेकिन सर्दि’यों के मौसम में बीमा’रियों का खतरा बढ़ जाता है। ऐसे में खुद को स्व’स्थ रखना काफी कठिन होता है, जिसके चलते ज्यादातर लोग इस मौसम मे बीमार पड़ते हैं। लेकि’न ठंड के मौसम में कुछ चीजें ऐसी भी हैं, जिन्हें निय’मित रूप से अपनाया जाए तो आप बीमा’रियों से कोसों दूर रह सकते हैं, और साथ ही आप’का शरीर भी मज’बूत हो सकता है। तो चलिए उन चीजों के बारे में जा’नते हैं।

प्रतीकात्मक तस्वीर

 सर्दियों में सबसे पहली जरू’री चीज जो है, वो है व्या’याम करना। अगर आप पहले से व्यायाम करते हैं तो इसे सर्दि’यों के मौ’सम में आलस के च’क्कर में ना छोड़ें, और अगर आप पहले से व्या’याम नहीं करते हैं तो सर्दि’यों से इसे करना शुरू कर सकते हैं। निय’मित व्यायाम करना अवसाद में कमी लाता है और शरीर में खुशी का एह’सास कराने वाले हा’र्मोन का स्राव करता है।

प्रतीकात्मक तस्वीर

सर्दी ऐसा मौसम है जिसमें अगर शरी’रिक सक्रि’यता कम होती है, तो फिर वजन बढ़ने की आशं’का भी बढ़ जाती है। ऐसे में व्या’याम करना सर्दी के मौसम में कभी नहीं छोड़ना चाहिए। इस मौसम में संतु’लित भोज’न करना चाहिए। शरीर को कार्बो’हाइ’ड्रेट के साथ ही प्रोटीन, तरल पदार्थ, वसा और फाइ’बर की काफी जरू’रत होती है। इस’लिए मौसमी फल व सब्जि’यां खानी चाहिए। अपने खाने में सलाद, सूप, हरी सब्जि’यों को शा’मिल करना चाहिए। साथ ही शरीर में पानी की कमी भी नहीं होने देना चा’हिए।

प्रतीकात्मक तस्वीर

इसके अलावा सर्दि’यों में ठंडी हवा’एं चलती हैं, जो हमारी त्वचा को शु’ष्क बना देती है। इस वजह से त्वचा को नमी की ज्यादा जरू’रत होती है, लेकिन इसका मतलब ये नहीं कि आप अनाव’श्यक क्रीम या लोशन का इस्ते’माल करें। दरअ’सल, अगर आप त्वचा पर ज्यादा क्रीम लगाते हैं तो धूल-मिट्टी के कण काफी देर तक त्व’चा पर ही जमे रहने की आ’शंका बढ़ती है। इससे त्वचा की एल’र्जी और मुहां’से होने का खतरा बढ़ जाता है। इसके अला’वा सर्दी में घर के अंदर कपड़े भी नहीं सु’खाने चाहिए।

प्रतीकात्मक तस्वीर

विशे’षज्ञों के मुता’बिक, गीले कपड़े घर के अंदर सुखाने से एस’लडी’हाइ’डेट और बेंजीन कण हवा में फैलते हैं जो त्वचा के लिए नुक’सान’दायक होते हैं। साथ ही सिर में दर्द, आंखों में जलन, गले में खराश और अस्थ’मा की सम’स्या से जूझ रहे लोगों की सम’स्या भी घर के अंदर कपड़े सुखाने से बढ़ सकती है। हालां’कि, अगर आप गीले क’पड़े घर के अंदर सुखा’ते भी हैं, तो घर की खिड़’कियों को जरूर खुला रखें। इसके अलावा विटा’मिन डी की कमी ना हो इसके लिए सूर्य की रो’शनी में जरूर बैठें। इससे मांसपे’शियों में होने वाले दर्द में राहत मिल स’कती है।