Categories
Other

इस स्टेशन के बीच खड़ें पेड़ को जिसने भी काटा उसके साथ हुआ कुछ ऐसा, जानकर आप भी दंग रह जाओगे!

सन् 1910 में यहां स्टेशन बनाया गया था. लेकिन आबादी बढ़ने के कारण इस स्टेशन का भी विस्तार करने की मांग उठने लगी. ऐसे में सरकार ने 1972 में इसके विस्तार की मंजूरी दे दी. अब स्टेशन के विस्तार के लिए इस पेड़ को काटना जरूरी था. लेकिन हैरानी की बात ये है कि जिसने भी इस पेड़ को काटने की कोशिश की है. वो किसी न किसी दुर्घटना का शिकार हो गया है. आइये जानते हैं आखिर इस जगह में ऐसा क्या हैं.

जापान के ओसाका के कायाशिया स्टेशन पर एक ऐसा पेड़ है, जिसे अभी तक कोई भी काट नहीं पाया है. दरअसल जब भी इस पेड़ को काटने की कोशिश की जाती है. हर बार कोई न कोई दुर्घटना हो जाती है. यहां के स्थानीय लोगों के अनुसार ओसाका के कायाशिया स्टेशन पर स्थित कपूर का यह विशाल पेड़ सदियों पुराना है. आपको बता दें की जिसने भी इस पेड़ को काटने की कोशिश की है वो किसी न किसी दुर्घटना का शिकार हो गया है. उसकी मौत हो गई है. एक बार तो किसी शख्स ने इसकी एक डाली काट दी, उसी शाम उसे काफी तेज बुखार हो गया.

इस पेड़ की जड़ों से कई लोगों ने धुआं भी निकलते देखा है. इसके बाद से ही स्थानीय लोगों ने इसके काटने का विरोध शुरू कर दिया और पेड़ की दैविक शक्तियों की कहानी काफी तेजी से चारों ओर फैल गई. आखिरकार अधिकारियों ने स्टेशन के विस्तार में आ रहे इस पेड़ को मजबूरी में अपने डिजाइन में बदला और पेड़ को अपने जगह पर छोड़कर स्टेशन का विस्तार किया. लेकिन इस पेड़ के साथ ऐसी कौन सी शक्ति जुड़ी हुई है इस रहस्य से आज तक कोई पर्दा नहीं उठा पाया है.



Leave a Reply

Your email address will not be published.