Categories
Other

सुशांत सिंह राजपूत: किसके कहने पर हुआ था पो’स्ट-मा’र्टम? सामने आई रिपोर्ट

सुशांत सिंह राजपूत केस में रोज नए अपडेट सामने आ रहे हैं. सुशांत केस की जांच पर लोगों ने सवाल उठाए. कई लोगों ने सुशांत की पो-स्टमा-र्टम रिपोर्ट को लेकर भी सवाल किए कि सुशांत का पो-स्टमा-र्टम इतनी जल्दबाजी में क्यों हुआ. सुशांत का पो-स्टमा-र्टम 14 जून को ही हो गया था. अब पो-स्टमा-र्टम से जुड़ा नया फेक्ट सामने आया है.

क्यों जल्दबाजी में हुआ सुशांत का पो-स्टमॉ-र्टम?

पो-स्टमा-र्टम करने वाले डॉक्टर सचिन सोनवणे ने खुलासा किया कि सुशांत सिंह राजपूत की बहन, और उनके जीजा, हरियाणा पुलिस के एसपी, ओपी सिंह के अनुरोध पर पो-स्टमा-र्टम किया गया था. डॉक्टर के अनुसार, पो-स्टमा-र्टम 90 मिनट की अवधि में किया गया था. पो-स्टमा-र्टम में कम से कम एक घंटा लगता है.

रात में पोस्टमार्टम क्यों किया गया, इस पर भी सवाल उठाए जा रहे थे. इस पर डॉक्टर ने कहा कि मुंबई में ऐसा कोई नियम नहीं है. और रात में भी पोस्टमार्टम हुए हैं. सुशांत सिंह राजपूत की बहन ने उसी शाम पो-स्टमा-र्टम करवाने के लिए मुंबई पुलिस से लिखित में अनुरोध किया था. जिसके आधार पर मुंबई पुलिस अधिकारियों और बीएमसी ने पोस्टमार्टम प्रक्रिया को तेज किया. 

शेखर सुमन ने पो-स्टमा-र्टम को लेकर उठाए थे सवाल

मालूम हो कि एक्टर शेखर सुमन ने आजतक से बातचीत में सुशांत के पो-स्ट-मार्ट-म को लेकर सवाल किया था. शेखर ने सवाल किया क‍ि सुशांत की मैनेजर दिशा सालियान का पो-स्टमा-र्टम 2 दिन में किया गया क्योंकि कोविड-19 का चक्कर था. तो फिर सुशांत के मामले में इतनी जल्दबाजी क्यों दिखाई गई. वहां कोविड-19 का केस अप्लाई नहीं होता क्या. इतनी क्या जल्दी थी कि उनका पो-स्टमा-र्टम तुरंत कर दिया गया.