Categories
health

अगर आप भी चाहते हैं राजा-महाराजाओं जैसी म’र्दाना ताकत, जरूर अपनायें ये नुस्खा…….

लाइफस्टाइल

पुराने समय में एक राजा के कई रानियां होती थीं और वो उन्‍हें संतुष्‍ट भी रख पाते थे । क्‍या आप जानते हैं ऐसा कैसे संभव हो पाता था, ये संभव होता था प्राकृतिक जड़ी-बूटियों से । प्रकृति के खजाने में कई ऐसी चीजें हैं जिनका उपयोग कर यौ* शक्ति को बढ़ाया और सेहतमंद रखा जा सकता है । आज आपको 4 ऐसी ही जड़ीबूटियों के बारे में बताते हैं जिनका इस्‍तेमाल करने से आप भी उसी ता’कत का ऐहसास कर पाएंगे । लेकिन ध्‍यान रहे ये जानकारी रिसर्च पर आधारित है । ऐसा होने की पु’ष्टि या दा’वा हम नहीं करते ।

शिलाजीत
शिलाजीत हिमालय में मिलने वाली एक ऐसी औषधि है जो बेहद दु’र्लभ है । शिलाजीत हिमालय, गिलगिट और तिब्बत क्षेत्र की कुछ विशेष चट्टानों में ही मिलती है । आयुर्वेद के अनुसार शिलाजीत में 85 अलग – अलग मि’नरल्‍स पाए जाते हैं । इसी वजह से इसे हैल्‍थ बे’निफिट्’स कई हैं । बाजार में यह चार प्रकार में उपलब्‍ध है, दुर्लभ होने के कारण इसकी कीमत काफी ज्‍यादा होती है । यौ’*:ता’कत में कमजोरी, एनर्जी लो, इ’रेक्‍टाइ’ल डि’स्‍फंक्‍श’न, बुढ़ापा और इ’म्‍यूनिटी बिल्‍डअप करने के लिए इसका सेवन किया जाता था ।

सफेद मूसली
प्राचीन काल से ही इसका इस्‍तेमाल शारीरिक ताकत को बढ़ाने में किया जाता है । इसके गुणों को लेकर कोई साइंटिफिक प्रूफ नहीं है लेकिन ये खोई यौ’* शक्ति लौटा सकती है, म’र्दा’ना ताकत दिला सकती है इसके दावे जरूर किए जाते हैं । सफेद मूसली का पाउडर एक चम्‍मच, एक गिलास दूध के साथ रोज लेने से इरेक्‍टाइल डि’स्‍फंक्‍श’न, स्‍प’र्म की कमी, इम’यूनि’टी, शी’घ्रपत’न, इ’म्‍पो’टें’सी आदि दूर होते हैं ।

अश्‍वगंधा
सफेद मूसली और अश्‍वगंधा का मेल पुरुषों में नई उत्‍तेज’ना का संचार करता है । लो स्‍प’र्म, थकान, कमजोरी और इम्‍यू’निटी बढ़ाने के लिए इसका इस्‍तेमाल सदियों से होता आ रहा है । इसे सोने से पहले गुनगुने दूध के साथ एक चम्‍मच लेने की सलाह दी जाती है ।