Categories
Other

अगर आपको भी है भूलने की बीमारी तो आज़माएं ये 5 नुस्खे

अक्सर हम कुछ चीज़ें ख़रीदने बाज़ार जाते हैं. मगर, वहां जाकर भूल जाते हैं कि क्या लेना है. इम्तिहान की तैयारी के लिए ख़ूब पढ़ाई की. पर, जब पर्चे का जवाब लिखने बैठे, तो आधा भूल गए. कभी कोई बहुत दिन बाद मिला, तो उस का नाम ही याद नहीं आता. एक कमरे से उठकर दूसरे कमरे में किसी काम से गए. लेकिन, वहां पहुंचकर भूल गए कि किस काम के लिए आए थे.

पीछे मुड़कर देखिए- अक्सर सलाह दी जाती है कि ‘बीती ताहि बिसार के आगे की सुध लेव.’यानी पुरानी बातें भूलकर आगे बढ़िए. मगर वैज्ञानिक मानते हैं कि पुरानी बातों को दोहराने से हमारी याददाश्त बेहतर होती है. जब हम पुराने तजुर्बों को अपने दिमाग़ में दोहराते हैं. तो उनकी यादें मज़बूती से हमारे ज़ेहन में रजिस्टर हो जाती हैं. तो आप भी कोशिश कीजिए कि हमेशा आगे की सोच रखने के बजाय कभी-कभी पीछे मुड़कर भी देखिए.

2. तस्वीरें बनाइए- ख़रीदारी के लिए निकलते वक़्त हम अक्सर सामान की लिस्ट बना लेते हैं. लेकिन, वैज्ञानिक कहते हैं याददाश्त बेहतर करनी है, तो सामान का नाम लिखने के बजाय उनकी तस्वीरें बनाइए.

3. वर्ज़िश कीजिए, मगर सही समय पर- ये बात कई बार साबित हो चुकी है कि नियमित रूप से वर्ज़िश करने से याददाश्त बेहतर होती है. मसलन, नियमित रूप से दौड़ लगाने से मेमोरी बेहतर होती है.

4. कुछ मत कीजिए- हेरियट वाट यूनिवर्सिटी की माइकेला डेवर ने इस बारे में एक रिसर्च की थी. उन्होंने पाया कि अगर सेहतमंद लोग कुछ याद करने के बाद तुरंत ब्रेक लेते हैं, तो उन्हें वो चीज़ें ज़्यादा याद रह जाती हैं.

5. एक झपकी लीजिए- बहुत सी ऐसी रिसर्च हैं, जिन्होंने साबित किया है कि झपकी लेना हमारी स्मरण शक्ति को काफ़ी बढ़ाता है. लेकिन, इस की एक शर्त है. जो लोग नियमित रूप से ऐसा करते हैं, वो ही झपकी लेने का फ़ायदा उठा सकते हैं. मतलब ये कि अगर आप लंबे समय तक झपकी लेने की आदत डालेंगे, तो ही आप को याददाश्त बेहतर करने के इस नुस्खे का फ़ायदा होगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.