Categories
News

Big Update:उत्तर प्रदेश में शुरू हुई ‘ब्राह्मण पॉलिटिक्स’, क्या बहुजन से ब्राह्मणों पर आई यूपी की राजनीति?

हिंदी खबर

उत्तर प्रदेश में शुरू हुई 'ब्राह्मण पॉलिटिक्स', क्या बहुजन से ब्राह्मणों पर आई यूपी की राजनीति?

बीजेपी के MLC उमेश द्विवेदी ने ब्राह्मणों के लिए जीवन बीमा और हेल्थ इंश्योरेंस कराने की बात कही है. हालांकि बाद में उन्होंने अपने बयान को नीजि बताया. लेकिन यूपी में अचानक आए ब्राह्मण कार्ड के पीछे वजह क्या है?

खास बातें

  • गरीब ब्राह्मणों पर बीजेपी MLC उमेश द्विवेदी का दावा
  • बीजेपी कराएगी गरीब ‘ब्राह्मणों’ का बीमा- उमेश द्विवेदी
  • गरीब ब्राह्मणों को मेडिकल इंश्योरेंस की भी तैयारी- उमेश द्विवेदी

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश (Utter Pradesh) की राजनीति में इन दिनों हर तरफ ब्राह्मणों की चर्चा है. हर पार्टी ब्राह्मण नाम की माला जप रही है. हर एक के अपने-अपने ब्राह्मण हैं. कोई भगवान परशुराम के नाम पर मूर्तियां बनवाने की बात कर रहा है तो कोई परशुराम के नाम पर अस्पताल और रैन बसेरे. इन सबसे आगे बढ़कर बीजेपी के MLC उमेश द्विवेदी ने ब्राह्मणों के लिए जीवन बीमा और हेल्थ इंश्योरेंस कराने की बात कही है. हालांकि बाद में उन्होंने अपने बयान को नीजि बताया. लेकिन यूपी में अचानक आए ब्राह्मण कार्ड के पीछे वजह क्या है?

ब्राह्मण कार्ड से यूपी की राजनीति अचानक गरमा गई है. उमेश द्विवेदी के बयान पर सपा-बसपा ने तीखी प्रतिक्रिया दी है. बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि अपनी कमियों पर पर्दा डालने के लिए बीजेपी गरीब ब्राह्मणों का बीमा कराने की बात कर रही है. जबकि ब्राह्मण समाज को वास्तव में बीमा से पहले सरकार से अपने मान-सम्मान व पूरी सुरक्षा की गारंटी चाहिए.

वहीं, सपा प्रवक्ता अभिषेक मिश्रा ने पूछा कि जिस मेडिकल इंश्योरेंस की बात प्रधानमंत्री मोदी करते हैं, क्या उस पर बीजेपी को विश्वास नहीं है? जिसे वह बताते हैं कि देश के हर नागरिक तक स्कीम का लाभ पहुंच रहा है, लेकिन आखिर क्या वजह है जो उस पर भरोसा ना कर मुख्यमंत्री से नई स्कीम तैयार करवाई जा रही है.