Categories
Other

गुमनामी में जिंदगी गुजार रही हैं अक्षय कुमार की ये हीरोइन, दाने दाने को हुई मोहताज!

कई सारे फ़िल्मी जगत में ऐसे किरदार हुए जिन्होंने अपने प्रदर्शन से अपने फैंस के दिल में अपनी अलग पहचान बनायी हैं. लेकिन कई बार ऐसा होता हैं किसी एक फिल्म से वो बहुत ज्यादा फेमस हो जाते हैं, फिर बाद में किसी कारणवश उन्हें काम नहीं मिल पाता तो उनको लोग भूलने लगते हैं. कुछ ऐसा ही इस ऐक्ट्रेस के साथ हुआ हैं. इन्होने बहुत सारे ऐक्टर के साथ काम कर चुकी हैं लेकिन अब ये मोहताज हैं खाने को भी. आइये आपको बताते हैं इस अभिनेत्री का नाम.

मराठी और बॉलीवुड की कई फिल्मों में काम कर चुकीं ये अदाकरा इन दिनों गुमनामी की जिंदगी जी रही हैं. वर्षा उसगांवकर ने 90 के दशक में बॉलीवुड इंडस्‍ट्री में कदम रखा था. उन्होंने रजनीकांत, जया प्रदा, विनोद खन्‍ना जैसे सितारों से सजी  फिल्म  ‘इंसानियत का देवता’ से डेब्‍यू किया था. साथ ही ‘तिरंगा’, ‘खल-ना‍यिका’, ‘दूध का कर्ज’ जैसी फिल्‍मों में काम कर अपनी पहचान बनाई थी. हालांकि इन बड़ी फिल्मों में काम करने के बाद भी बॉलीवुड में वो अपनी अलग पहचान नहीं बना पाईं. जबकि उन्होंने अक्षय कुमार जैकी श्रॉफ, नाना पाटेकर, मिथुन चक्रवर्ती जैसे नामी एक्‍टर्स के अपोजिट कई भूमिकाएं निभाईं.

वर्षा ने अक्षय कुमार के साथ फिल्‍म ‘हत्‍या’ में भी काम किया था. लेकिन काफी वक्‍त तक इस फिल्‍म को होल्‍ड पर रखा गया था. इसके बाद साल 2004 में इस फिल्‍म को रिलीज किया गया था. लेकिन इस फिल्‍म ने सफलता हासिल नहीं की और यह फिल्‍म फ्लॉप हो गई. इस फिल्‍म के फ्लॉप होने के बाद वह बॉलीवुड से बाहर हो गईं. इसके बाद उन्हें मराठी फिल्मों में ही देखा गया.

वर्षा ने संगीतकार रविशंकर शर्मा के बेटे अजय शर्मा से शादी रचा ली थी. हाल ही में संगीतकार रवि के निधन के बाद वर्षा और अजय पर उनकी ननदों ने संपत्ति कब्जा करने का आरोप लगाया था. उन्‍होंने यह दावा किया था कि उनके पिता के निधन के उनके पति और उन्‍होंने उनके पिता का घर कब्‍जा कर लिया है.

संगीतकार रवि ने अपनी वसीयत में अपना घर अपनी बेटियों के नाम कर दिया था. उन्‍होंने अपनी वसीयत में यह भी लिखा कि मेरे बेटे और मेरी बहु ने शादी के बाद से मेरी किसी भी तरह की कोई मदद नहीं की है. मैं चाहता हूं कि मेरे बेटे का मेरी संपत्ति पर काई हक न हो. उन्‍होंने यह तक लिख दिया था कि मेरे निधन के बाद मेरा बेटे और वर्षा को मेरे शव को हाथ तक न लगाने दिया जाए.

Leave a Reply

Your email address will not be published.