Categories
Other

ए’न’का’उं’ट’र के इतने दिनों बाद विकास दुबे कां’ड में हुआ ये चौंकाने वाला खु’ला’सा!

कानपुर शू’ट’आ’उ’ट मामले में हर दिन नए नए खु’ला’से हो रहे है. जिसके बाद अब ये मामला और पे’ची’दा होता जा रहा है. दरअसल गो’ली’कां’ड के मुख्य आ’रो’पी विकास दुबे के ए’न’का’उं’ट’र के बाद पु’लि’स के सामने इस मामले में कई बातें आई है. वही दूसरी तरफ विकास दुबे के रा’ई’ट हैंड कहे जाने वाले अमर दुबे और उसकी पत्नी को लेकर भी कई चौ’का’ने वाले खु’ला’से हुए है. आपको बता दें विकास दुबे के ए’न’का’उं’ट’र को काद्फी दिन बीत चुके हैं, लेकिन इसके बाबजूद इस केस को लेकर कई खु’ला’सा दिन प्रतिदिन किया जा रहा हैं.

दहशतगर्द विकास दुबे के भाई दीपक दुबे को पु’लि’स ने अभी तक बिकरू कां’ड में आरोपी नहीं बनाया है। जबकि वा’र’दा’त में उसकी ला’इ’सें’सी रा’इ’फ’ल का इस्तेमाल हुआ था। इसके बावजूद पु’लि’स ने न नामजद ए’फ’आ’ई’आ’र द’र्ज की और न ही अभी तक की विवेचना में उसका नाम जोड़ा है। वा’र’दा’त के बाद से दीपक फरार है. बिकरू कां’ड के बाद पु’लि’स ने विकास समेत 21 नामजद आ’रो’पि’यों’ के खि’ला’फ के’स द’र्ज किया था। इसमें दीपक का नाम शामिल नहीं था। पु’लि’स की शुरुआती जांच में पता चला था कि वारदात में दीपक की सेमी ऑटोमैटिक रा’इ’फ’ल का इस्तेमाल हुआ है। इसके बावजूद पु’लि’स ने अभी तक दीपक को आ’रो’पी नहीं बनाया है। वहीं, लखनऊ पु’लि’स ने उस पर के’स द’र्ज कर 20 हजार रुपये का इनाम घो’षि’त कर रखा है। लखनऊ पु’लि’स भी उसकी त’ला’श कर रही है.

अभी तक पु’लि’स इस मामले में 15 से अधिक लोगों को जेल भेज चुकी है। विकास के एक साथी ने सरेंडर भी किया है। वहीं इस घ’ट’ना में शा’मि’ल कई ब’द’मा’श अभी तक फरार चल रहे हैं। जिन्हें ढूंढने के लिए यूपी एसटीएफ की कई टीमें लगी हुई हैं।वा’र’दा’त में दीपक दुबे की मौजूदगी के साक्ष्य नहीं मिले हैं। जांच जारी है। उसकी रा’इ’फ’ल का इस्तेमाल हुआ है तो उसको आ’रो’पी बनाया जाएगा.