Categories
Other

तो क्या 2020 अप्रैल में इस तारीख को हो जाएगा मानव सभ्यता का अंत!

मानव सभ्यता पर अगर किसी भी प्रकार की मुसीबत आती हैं सब मिलके उस मुसीबत को खत्म करने का उपाय ढूंढ लेते हैं. भले ही कभी कभी थोड़ा समय भले ही लग जाता हैं लेकिन उस मुसीबत से बचने का हल निकल ही जाता हैं. आपको तो पता ही हैं अभी पुरे देश में कोरोना वायरस का आतंक मचा हुआ है. लेकिन कोरोना वायरस से भी खतरनाक एक और बात हैं जिससे पुरे मानव सभ्यता का अंत हो सकता हैं. आइये आपको बताते है उसके बारे में.

अरबों साल पहले महाविनाश हुआ था. धरती से तबाही मचाने वाला ऐस्टरॉइड टकराया था. ऐस्टरॉइड के टकराने से डायनासोर युग का अंत हुआ था. 2020 में ऐसा ही डर, ऐसा ही खौफ एक बार फिर पूरी दुनिया पर मंडराने लगा है. बड़े-बड़े वैज्ञानिकों की नींद उड़ी है. सुपरपावर अमेरिका तक घबराया हुआ है क्योंकि नासा ने पुष्टि की है कि ऐसा ही एक विशाल ऐस्टरॉइड एक बार फिर से धरती के बेहद करीब से गुजरने वाला है. दुनिया बदल देने वाली ये तारीख 29 अप्रैल हो सकती है. नासा की मानें तो फिलहाल चिंता की बात नहीं है. लेकिन कई वैज्ञानिक इसके बाद भी आशंका जता रहे हैं कि अगर इसकी टाइमिंग में कुछ सेकंड का भी अंतर हुआ तो ये ऐस्टरॉइड धरती से टकरा सकता है और तब बहुत मुमकिन है कि इसके बाद डायनासोर की तरह पूरी मानव सभ्यता का अंत हो जाए.

सबसे पहले आपको इस ऐस्टरॉइड का नाम बताते हैं. इसे 52768 (1998 IR2) नाम दिया गया है. इसकी रफ्तार 19 हजार मील/घंटा है. वैज्ञानिकों को अंदाजा है कि ये ऐस्टरॉइड माउंट एवरेस्ट जितना विशाल हो सकता है. और धरती पर टकराया तो तबाही मच सकती है. 6.6 करोड़ साल पहले जिस एस्टेरॉयड के धरती पर टकराने से डायनासोर खत्म हो गए थे, उसकी रफ्तार 40 हजार मील प्रति घंटा थी, उस वक्त एस्टेरॉयड की टक्कर इतनी जबर्दस्त थी कि इससे धरती पर जीवन को तीन बार खत्म किया जा सकता था.

Leave a Reply

Your email address will not be published.