Categories
Other

दुनिया में कहां से आया कोरोना वायरस, वैज्ञानिकों को मिला ये पुख्ता सबूत

देश ही नहीं पूरी दुनिया को कोरोना वायरस ने अपनी चपेट में ले रखा है। ऐसे में देश में कोरोना को लेकर ऐसी बात सामने आयी है जिसे सुनकर हर कोई हैरान रह जाएगा।आपसब जानते हैं कि कोरोना वायरस की शुरुवात चीन के एक शहर वुहान से हुई थी. कोरोना का संक्रमण लगातार बढ़ रहा है. इससे संक्रमित लोगों की संख्या दुनिया में बढ़कर 25 लाख हो गई है. दुनिया में कोरोना वायरस ने अब तक 1.71 लाख से ज्यादा लोगों की जान ले ली है. राहत की बात यह भी है कि दुनिया भर में अब तक कोरोना नाम की इस महामारी से 6.56 लाख लोग ठीक भी हो चुके हैं.

शोधकर्ताओं ने कहा कि साक्ष्‍य बताते हैं कि मर्स वायरस चमगादड़ों से ऊंटों में फैला और ऊंटों से इंसान में इसका संक्रमण हुआ। वहीं सार्स के बारे में माना जाता है कि इसके वायरस चमगादड़ से बिल्लियों में फैले और वहां से इंसानों में प्रवेश कर गए। वैज्ञानिकों ने कहा कि इबोला वायरस भी चमगादड़ों से ही इंसानों में आया। इबोला वर्ष 1976, 2014 और 2016 में अफ्रीका में फैल चुका है। उन्‍होंने कहा कि हमें कोरोना वायरस के ऐसे कई जेनेटिक कोड मिले हैं जो चमगादड़ों में पाए जाते हैं।

कैनन ने कहा कि कोरोना वायरस पर पैंगोलिन की भी छाप है लेकिन अभी तक यह स्‍पष्‍ट नहीं है कि क्‍या पैंगोलिन का कोई सीधी भूमिका है या वह खुद भी चमगादड़ का शिकार है। उन्‍होंने कहा, ‘सैकड़ों कोरोना वायरस हैं और इनमें से बड़ी संख्‍या में चमगादड़ में पाए जाते हैं।’ कैनन ने कहा कि हमें आशंका है कि आने वाले समय में और ज्‍यादा कोरोना वायरस इंसानों में संक्रमण कर सकते हैं। हालांकि यह 100 साल में एक बार होता है। लेकिन यह जब होगा तब जंगल की आग तरह से पूरी दुनिया में फैल जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.