Categories
health

अगर आपको भी से’क्स के दौरान होता है दर्द तो… हो जाएं सा’वधान

खबरें

से’क्स के दौरान इन्सान आनंद की अ’नुभूति करता है, लेकिन कई बार अचानक उठने वाला दर्द मजा बिगाड़ देता है. से’क्स के दौरान होने वाले दर्द के कई कारण हो सकते हैं. यह शरीर में पानी की कमी के कारण हो सकता है या किसी इन्फेक्शन का परिणाम हो सकता है. महिलाओं और पुरुषों में दर्द के अलग-अलग कारण हो सकते हैं. से’क्स के दौरान होने वाले इस दर्द को डॉक्टरी भाषा में डिस्परेयूनिया कहा जाता है. यदि से’क्स के दौरान पेट या गुप्तांगों के आसपास दर्द हो रहा है तो इसकी जड़ तक पहुंचना जरूरी है.

महिलाओं को कई कारणों से से’क्स के बाद दर्दनाक ऐंठन का अनुभव होता है, जैसे से’क्स के दौरान लिंग का अधिक अंदर तक जाना, अंडाषय में गठान या अल्सर, गर्भाशय फाइब्रॉएड, एंडोमेट्रियोसिस, सूजन, ओव्यूलेशन. वहीं पुरुषों में से’क्स के बाद दर्द का एक मात्र कारण प्रोस्टेट ग्रंथि में सूजन होती है.
से’क्स के दौरान या बाद दर्द होने के सामान्य कारण

द जर्नल ऑफ पैन में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार, से’क्स के दौरान दर्द की शिकायत महिलाओं में अधिक होती है. इसका कारण है शारीरिक बनावट. महिलाओं के जननांग अधिक जटिल होते हैं.

से’क्स भी एक तरह की एक्सरसाइज है. इस एक्सरसाइज को ज्यादा देर तक करने से शरीर थक सकता है और दर्द महसूस कर सकता है. इस दौरान मांसपेशि’यों में खिंचाव आम है. इस तरह के दर्द अपने आप ठीक हो जाते हैं, लेकिन यदि बार-बार ऐसा होता है तो डॉक्टर को दिखाना चाहिए.

डिहाइड्रेशन या पाचन संबंधी समस्याएं दर्द का कारण बन सकती हैं. खाने के ठीक बाद से’क्स न करें. वहीं ध्यान रखें कि शरीर में पानी की कमी न हो. जिन लोगों का पाचन ठीक नहीं रहता है, उनके लिए से’क्स के दौरान दर्द आम होता है.

कई बार मूत्र मार्ग में इन्फेक्शन होता है और इसका पता से’क्स के दौरान होने वाले दर्द से चलता है. इस इन्फेक्शन को यूटीआई यानी यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फे’क्श’न कहा जाता है. यदि ऐसा है तो से’क्स करने से पहले यूटीआई का इलाज करवा लें.

महिलाओं में जन्म के समय से योनि का अधूरापन होता है. इसमें योनि पूरी तरह विकसित नहीं होती है और आगे चलकर से’क्स के दौरान दर्द का कारण बनती है.

महिलाओं को पीरियड्स के दौरान से’क्स करते समय दर्द होता है. इसी तरह गर्भावस्था या प्रे:ग्नेंसी के बाद शारीरिक संबंध बनाना मुश्किल हो सकता है. ऐसे अधिकांश मामलों में कुछ समय बाद सबकुछ सामान्य हो जाता है.