Categories
health

भूल कर भी इन 10 चीजों को ना करें अपने खाने में शामिल, हो सकता है जा’न का खत’रा!

हेल्थ खबर

इंसान को जिं’दा रहने के लिए खाना जरूरी है. उसी से ऊर्जा मिलती है जिससे वो कोई भी कार्य कर सकता है. आप क्या खाते हैं मायने रखता है. अगर आप सिर्फ फास्ट फूड खाएंगे तो उससे आपकी सेहत नहीं बनेगी. खाने में प्रोटीन, का’र्बोहा’इड्रेट, फैट, जैसे सब न्यूट्री’शन सही मात्रा में होना जरूरी है. कई चीजें खाने में सेह’तमंद होती हैं तो कुछ चीजें शरीर को नुकसान पहुंचाती हैं मगर दुनिया में खाने की कुछ ऐसी भी चीजें मौजूद हैं जो आपको बहुत ही ज्यादा नुक’सान पहुंचा सकती हैं. यहां तक कि उसे खाने से आपकी जान भी जा सकती है.

कसावा
कसा’वा सूखी और कम उप’जाऊ धरती पर उगने वाला एक पौधा है जो मीठी और कड़वी न’स्लों में भी मिलता है.

इस जड़ वाली फसल को वैसे तो काफी लोग खाते हैं मगर इसे खाने के लिए इसे पकाना बहुत जरूरी है. अगर आप इसे पका कर खाते हैं तो ये नुक’सान नहीं करेगा लेकिन अगर आप इसे बिना पकाए खाएंगे तो ये आपकी जान भी ले सकता है. कसावा में लिनामरीन होता है जो साइ’नाइड का एक जह’रीला प्रकार है. शरीर में जाते है ये जहर का काम करता है और इसे खाने से जान भी जा सकती है.

ऑक्टो’पस
कोरिया में एक पकवान बनता है जिसे सैन नाकजी कहते हैं. ये ऑक्टो’पस के बच्चे का मीट होता है जिसे ताजा मार कर खाया जाता है. ये बेहद नुकसा’नदेह है. क्योंकि मारने के बाद भी ऑ’क्टो’पस के हाथ यानी टेंटिक’ल्स कुछ वक्त तक एक्टिव रहते हैं. वो फड़फ’ड़ाते रहते हैं. इसे खाने पर कई लोगों के गले में ऑ’क्टो’पस का हाथ फंस जाता है और वो इंसान के गले को जाम कर देता है जिससे दम घु’टने से मौ’त हो सकती है.

एकी फल (Ackee Fruit)
एकी जमा’यका का राष्ट्रीय फल है मगर ये इतना जह’रीला है कि आप सोच भी नहीं सकते. अगर कच्चे एकी फल को खाया जाए तो इससे आप बीमार पड़ सकते हैं, आपको उ’ल्टियां हो सकती हैं और आप कोमा में भी जा सकते हैं. दरअ’सल इस फल में हाय’पोग्ला’इसिन नाम का जहर होता है. इस फल को पक जाने के बाद एक बार को तो खाया जा सकता है मगर इसके बीज को तो किसी भी स्थि’ति में नहीं खाया जाना चाहिए.

हकारी
हकारी आइ’स्लैंड में खाया जाता है. ये शार्क का मीट है जिसपर उसकी चमड़ी मौ’जूद रहती है. हकारी मीट को खाने से पहले 6 महीने के लिए फर’मेंट किया जाता है. अगर ऐसा ना किया जाए तो ये जह’रीला हो सकता है. हकारी का मीट ग्रीन’लैंड शार्क से आता है. इस शार्क में ना किडनी होती है और ना यूरिनरी ट्रैक्ट होता है. इसके चलते शार्क के शरीर से जो भी गंदगी बाहर निकलती है वो उसकी चमड़ी के रास्ते निक’लती है.

काजू
दुनियाभर में काजू को लोग बड़े चाव से खाते हैं. लोगों का मानना है कि हर तरह का नट सुर’क्षित होता है. अगर आप दुकान से काजू खरी’दते हैं तो वो आपके लिए सुर’क्षित है मगर भूल से भी कच्चे काजू को ना खाएं जिसे पका’या ना गया है. काजू में उरुशि’ओल नाम का केमिकल होता है जो जहर की तरह होता है. हांलाकि एक या दो खाने से आपकी जान नहीं जाएगी मगर आपको दर्द का अनुभव हो सकता है और अगर आप लगा’तर कई कच्चे काजू खाते रहे तो जान जाना भी तय है.

नोमूरा जेली फिश
जापान में इस जेली फिश को काफी चाव से खाया जाता है. मगर भूल से भी इसे कच्चा या आधा पका खाने की गलती नहीं करनी चाहिए क्योंकि इसमें निमैटोसिस्ट नाम का जहर होता है जिससे जलन, सूजन या मौ’त भी हो सकती है.

अफ्री’कन बुल फ्रॉग
पश्चिमी देशों में अमूमन लोग मेंढक नहीं खाते हैं मगर दुनिया के कई देशों में काफी लोगों के खाने में मेंढक शामि’ल होता है. अफ्रीका में पूरा का पूरा मेंढक पकाने के बाद खा लिया जाता है मगर कभी भी बुल फ्रॉग को टे’स्ट करने की भूल ना करें. इसमें पाए जाने वाले टॉ’क्सिन से किड’नी और लिवर खराब हो सकता है और कुछ मामलों में मौ’त भी हो सकती है.

पफर फिश
देखने में ये मछ’ली जितनी खूब’सूरत और प्यारी लगती है, असल में खाने में ये उतनी ही जहरीली है. एक्स’पर्ट कुक ही इस मछली को पका सकते हैं. इस मछली के कई अंगों में टेट्रो’डोटॉ’क्सिन होता है. ये एक खतर’नाक टॉ’क्सिन है जो साइनाइड से भी 200 गुना ज्यादा ख’तर’नाक होता है. एक्स’पर्ट कुक ही मछली को एहति’याद से काट सकता है. अगर मछली काटते वक्त जहर वाले हिस्से बाकी हिस्सों से छू गए तो पूरी मछली को ही छोड़ना पड़ता है क्योंकि वो जह’री’ली हो जाती है.

एल्ड’रबे’रीज
एल्डरबेरी दिखने में शह’तूत की तरह लगती है. दुनिया में कई लोग इसे खाते हैं. पकी हुई एल्डर’बेरी खाने में कोई नुकसान नहीं है मगर बच्चे और बुजुर्ग अगर कच्ची एल्डर’बेरी खा लें तो उनका पेट खराब हो सकता है और उल्टि’यां भी हो सकती हैं.

ब्ल’ड क्लै’म्स
ब्लड क्लै’म्स को भी खाया जाता है मगर इसे खाने से आपकी सेहत पर बुरा असर पड़ता है. ब्लड क्लै’म्स फि’ल्टर का काम करते हैं जो भारी मात्रा में पानी को साफ करते हैं. ऐसे में इनके अंदर बहुत से बैक्टी’रिया पाए जाते हैं जो पेट और पाचन तंत्र को खराब कर सकते हैं. इसको खाने से टाइ’फॉइड भी हो सकता है.